DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंकाई PM रानिलसिंघे ने चेताया, देश में अब भी बना हुआ है ISIS आतंकी हमले का खतरा

sri lanka   s prime minister ranil wickremesinghe  afp photo

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने मंगलवार को कहा कि ईस्टर के दिन हुए हमलों के लिए जिम्मेदार सभी आतंकवादियों को मार गिराया गया है या उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि उन्होंने आगाह किया कि देश के सामने अब भी आईएसआईएस आतंकी हमलों की खतरा बना हुआ है।

विक्रमसिंघे ने देश में मौजूदा सुरक्षा स्थिति पर संसद में बहस के दौरान कहा कि ईस्टर के दिन हुए हमलों से सीधे जुड़े सभी लोग या तो मारे गए या हिरासत में हैं। नौ आत्मघाती हमलावरों ने ईस्टर के दिन तीन गिरजाघरों और तीन लक्जरी होटलों में विस्फोट किए थे। इस्लामिक स्टेट ने हमलों की जिम्मेदारी ली थी लेकिन लेकिन सरकार ने विस्फोटों के लिए स्थानीय इस्लामी चरमपंथी समूह नेशनल तौहीद जमात को दोषी ठहराया।

श्रीलंका में ईस्टर हमले के जिम्मेदार सभी आतंकी गिरफ्तार; पुलिस ने कहा, देश अब सुरक्षित है

विक्रमसिंघे ने कहा कि जांच से पता चला है कि हमलावरों के इस्लामिक स्टेट के साथ प्रत्यक्ष या परोक्ष संबंध थे और देश को ऐसे आतंकी नेटवर्क द्वारा उत्पन्न खतरों से निपटने के लिए आधुनिक तकनीक की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, ''खतरा खत्म नहीं हुआ है, अब हम वैश्विक आतंकवाद के शिकार हैं।" उन्होंने कहा कि आतंकवाद के वैश्विक खतरे से निपटने के लिए श्रीलंका को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ मिलकर काम करना चाहिए।

इस बीच श्रीलंकाई पुलिस और सैन्य प्रमुखों ने कहा कि देश अब सुरक्षित है और सामान्य होने की ओर अग्रसर है। तीनों सेनाओं के कमांडर और पुलिस प्रमुख ने सोमवार की रात एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 21 अप्रैल को हुये हमले के बाद से देश की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कदम उठाये गए हैं और इस बात के उपाय किए जा रहे हैं कि विशेष सुरक्षा योजना को लागू किया जाए। कार्यकारी पुलिस महानिरीक्षक चंदाना विक्रमसिंघे ने कहा कि उन सभी लोगों को पकड़ा जा चुका है अथवा उन्हें मार दिया गया है जिनका प्रत्यक्ष संबंध तीन गिरजाघरों एवं तीन आलीशान होटलों में हुये विस्फोट से था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sri Lanka still faces threat of ISIS terror attacks Says PM Ranil Wickremesinghe