DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका में गृहयुद्ध की समाप्ति के 10 साल पूरे, संघर्ष में मारे गए थे 100,000 लोग

sri lanka civil war women mourn at the graves of their relatives who died in 2009   ap may 18  2015

श्रीलंका अभी भी ईस्टर के मौके पर हुए बम धमाकों के ज़ख्म से अभी उबरा नहीं है। इसी बीच शनिवार को सरकार और लिट्टे के बीच चले घातक गृह युद्ध के अंत के 10 साल पूरे होने पर युद्ध में जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। हालांकि, पीड़ितों के लिए न्याय सुनिश्चित करने में विफल रहने के लिए सरकार को आलोचना भी झेलनी पड़ी।

श्रीलंकाई सरकार ने 18 मई, 2009 को मुल्लाईतिवु के एक तटीय गांव में लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के प्रमुख वेलुपिल्लई प्रभाकरन को मारकर इस युद्ध का अंत किया था। यह गृहयुद्ध मुख्य रूप से इस द्वीपीय राष्ट्र के उत्तरी और पूर्वी क्षेत्रों में लड़ा गया था। तीन दशक से भी अधिक लंबे समय तक चले संघर्ष में कम से कम 100,000 लोग मारे गए थे। युद्ध के बाद भी सुरक्षाकर्मियों सहित हजारों लोगों के लापता होने की खबर थी।

कोलंबो गजट ने बताया कि युद्ध में जान गंवाने वालों को याद करने के लिए उत्तरी श्रीलंका के कई हिस्सों में हजारों लोग इकट्ठा हुए। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि सरकार रविवार को विजय दिवस समारोह के दौरान युद्ध के नायकों को श्रद्धांजलि देगी।

बयान में लोगों से देश के लिए अपना जीवन कुर्बान करने वाले की याद में ''शांति का दीपक" जलाने को कहा गया है। कोलंबो गजट की रिपोर्ट के मुताबिक, हालांकि, मानवाधिकार संगठनों ने सरकार पर युद्ध के एक दशक बाद भी पीड़ितों को न्याय दिलाने में विफल रहने का आरोप लगाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sri Lanka marks a decade of the end of civil war People Tribute Victims