DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Sri Lanka Blast: मुर्दाघरों में प्रोजेक्टर चलाकर करानी पड़ी शवों की पहचान

                                                               afp

कोलंबो के एक मुर्दाघर में ईस्टर पर हुए धमाकों में मारे गए लोगों की वीभत्स तस्वीरें देखकर वहां मौजूद लोगों में से किसी ने अपनी आंखें बंद कर लीं तो कोई गश खाकर गिर पड़ा। इस दर्द से उन कई लोगों को गुजरना पड़ा जो धमाकों के बाद अपने परिजनों के कहीं न मिलने पर यहां पहुंचे थे। धमाकों में मारे गए 290 मृतकों में से कुछ की तस्वीरें बेहद डराने वाली थी, चेहरे चोट से बुरी तरह विकृत हो चुके थे तो बहुतों के अंग भंग थे। 

धमाकों में मारे गए कई लोगों के शवों को सरकारी मुर्दाघर में रखा गया था और भीषण गर्मी में भी अपनों की पहचान के लिये लोग कतारबद्ध होकर दिल को झकझोर देने वाला स्लाइड शो देख रहे थे जिसमें पहचान के लिये शवों की तस्वीरें चल रही थीं। पीड़ितों के परिजनों द्वारा पहचान किये जाने के बाद 18 शव उन्हें सौंप दिये गए। अधिकारियों ने कहा कि शिनाख्त का यह पल बेहद दर्दनाक है। बुरी तरह क्षत-विक्षत शवों की पहचान सिर्फ परिजनों के डीएनए के मिलान से ही हो पाएगी।

कोलंबों में बम निष्क्रिय करते समय धमाका

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में सोमवार को एक और धमाका उस वक्त हुआ जब पुलिस कर्मी एक चर्च के पास मिले बम को निष्क्रिय कर रहे थे। 
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सेंट एंथनी चर्च से 50 मीटर की दूरी पर पुलिस को एक और बम मिला था। बम निरोधक दस्ते को इसकी सूचना दी गई।

बम को निष्क्रिया किया जा रहा था उसी वक्त वहां धमाका हुआ। शुरुआती खबरों में इस धमाके से किसी के हताहत होने की कोई जानकारी नहीं है। यह कितना भीषण था इसकी भी कोई सूचना नहीं है। अभी इसकी तीव्रता की भी सूचना नहीं दी गई है। बता दें कि रविवार को सेंट एंथनी चर्च को निशाना बनाया गया था। 

Sri Lanka Blast: अपनों को भी नहीं बख्शे हमलावर, धमाके में मारी गई पत्नी-बहन

पूरे कोलंबो को थी दहलाने की तैयारी, बस स्टैंड के पास 87 विस्फोटक बरामद

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sri lanka blast Identification of dead bodies by projector in mortuary