DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › क्रूर हुआ तालिबान, पर 6 महीने में बदल जाएंगे हालात; बोले अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी
विदेश

क्रूर हुआ तालिबान, पर 6 महीने में बदल जाएंगे हालात; बोले अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nootan Vaindel
Mon, 02 Aug 2021 12:17 PM
क्रूर हुआ तालिबान, पर 6 महीने में बदल जाएंगे हालात; बोले अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी

अफगानिस्तान में सुरक्षा बलों का और तालिबान का संघर्ष लगातार जारी है। देश की स्थिति को देखते हुए हजारों नागरिक हर सप्ताह देश छोड़कर जा रहे हैं। इसी बीच अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा है कि हिंसा से जूझ रहे देश की स्थिति में अगले छह महीनों के भीतर बदलाव दिखाई देगा।  उन्होंने जोर देकर कहा कि शहरों की सुरक्षा उनकी सरकार की प्राथमिकता है। एक वर्चुअल कैबिनेट बैठक को संबोधित करते हुए, गनी ने रविवार को कहा कि तालिबान पिछले दो दशकों में "अधिक क्रूर और अधिक दमनकारी" हो गया है।

गनी ने कहा, "उन्हें शांति, समृद्धि या प्रगति की कोई ख्वाहिश नहीं है; हम शांति चाहते हैं लेकिन वे आत्मसमर्पण चाहते हैं। वे तब तक सार्थक बातचीत नहीं करेंगे जब तक कि युद्ध के मैदान में स्थिति नहीं बदल जाती; इसलिए, हमें एक साफ रूख अपनाना होगा । इसके लिए तालिबान के खिलाफ पूरे देश को एक साथ आना होगा।"

गनी का यह बयान ऐसे समय में आया है जब अफगान सुरक्षा बलों ने तालिबान के ठिकानों पर लगातार हमले और बमबारी की है। तालिबान ने भी अफगानिस्तान के दूसरे सबसे बड़े शहर कंधार में हवाई अड्डे पर हमले किए, यहां रात में कम-से-कम तील रॉकेटों से हमला किया गया। तालिबान ने कहा कि इसका उद्देश्य अफगान सरकारी बलों के हवाई हमलों को विफल करना था. 

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने रॉयटर्स को बताया, "हमने कंधार हवाईअड्डे को इसलिए निशाना बनाया क्योंकि दुश्मन हम पर हमले करने के लिए केंद्र के रूप में इसे इस्तेमाल कर रहा था।"

रॉकेट के रनवे पर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त होने के बाद अधिकारियों ने कंधार से उड़ानों को निलंबित कर दिया। बाद में उड़ान संचालन बहाल कर दिया गया।

तालिबान लड़ाकों ने कम-से-कम दो अन्य प्रांतीय राजधानियों पर भी हमला किया है, जिसमें हेलमंद में लश्कर गाह और हेरात शामिल हैं। सरकार ने कहा है कि अफगानिस्तान के राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों (ANDSF) ने देश भर में सैकड़ों तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया है। हेरात प्रांत में अमेरिकी वायु सेना के एक बी-52 विमान द्वारा किए गए हवाई हमले में कम से कम 200 सौ तालिबान आतंकवादी मारे गए।

अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने गजनी, कंधार, फराह, जोजजान, बल्ख, समांगन, हेलमंद, तखर, कुंदुज, बगलान, काबुल और कपिसा प्रांतों में तालिबान के खिलाफ प्रमुख अभियान और जवाबी हमले किए हैं।

अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट किया "पिछले 24 घंटों के दौरान गजनी, कंधार, हेरात, फराह, जोजजान, बल्ख, समांगन, हेलमंद, तखर, कुंदुज, बगलान, काबुल और कपिसा प्रांतों में एएनडीएसएफ के अभियानों के परिणामस्वरूप 254 तालिबान आतंकवादी मारे गए और 97 घायल हो गए। इसके अलावा, 13 IED को #ANA द्वारा खोजा और निष्क्रिय किया गया।“

इससे पहले, मंत्रालय ने आगे खुलासा किया कि 14 अप्रैल से, लगभग 4,000 ANDSF कर्मी मारे गए हैं, 7,000 से अधिक घायल हुए हैं और लगभग 1,600 तालिबान द्वारा कब्जा कर लिया गया है। हिंसा में महिलाओं और बच्चों सहित 2,000 से अधिक नागरिक मारे गए, जबकि 2,200 घायल हुए।

संबंधित खबरें