ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशसऊदी अरब ने कड़े किए विदेशी कामगारों के लिए वीजा के नियम, क्या पड़ेगा भारत पर असर

सऊदी अरब ने कड़े किए विदेशी कामगारों के लिए वीजा के नियम, क्या पड़ेगा भारत पर असर

सऊदी अरब की तरफ से विदेशी कामगारों के लिए जारी किए जाने वाले वीजा के नियमों को सख्त करने की कोशिश की है। सऊदी अरब इन शर्तों के पूरी होने के बाद ही किसी विदेशी कर्मचारी के लिए वीजा जारी करेगा।

सऊदी अरब ने कड़े किए विदेशी कामगारों के लिए वीजा के नियम, क्या पड़ेगा भारत पर असर
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 28 Nov 2023 11:54 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत से काम की तलाश में बहुत से लोग व्यवसाय और नौकरी के लिए सऊदी अरब जाते हैं। अब सऊदी अरब की तरफ से विदेशी कामगारों के वीजा नियमों में बड़ा बदलाव करते हुए अपने वीजा के नियमों को सख्त करने की कोशिश की है। सऊदी अरब के इस कदम का भारत के लोगों को पर भी काफी प्रभाव पड़ने वाला है। सऊदी अरब सरकार की आधिकारिक वेबसाइट 'सऊदी गजट' के मुताबिक, सऊदी सरकार ने विदेशी कामगारों की भर्ती के लिए वीजा जारी करने के नियमों में बदलाव करने वाली है।

सऊदी ने बदले विदेशी कामगारों के वीजा नियम

सऊदी अरब मानव संसाधन और सामाजिक विकास मंत्रालय के अनुसार, नए नियमों के तहत अविवाहित पुरुषों या महिलाओं के लिए सऊदी अरब में काम के लिए विदेशी श्रमिकों को नियुक्त करना मुश्किल होने वाला है। नए नियमों के मुताबिक, अब कोई भी अविवाहित सऊदी नागरिक 24 साल पूरे करने के बाद ही किसी विदेशी नागरिक को घरेलू काम के लिए अपने यहां नौकरी पर रख सकता है। सऊदी सरकार इन शर्तों के पूरी होने के बाद ही किसी विदेशी कर्मचारी के लिए वीजा जारी करेगी।

भारत के कामगारों पर भी पड़ेगा असर

भारतीय विदेश मंत्रालय के मुताबिक, सऊदी अरब में करीब 26 लाख भारतीय काम करते हैं। अब सऊदी अरब में 24 साल से कम उम्र के अविवाहित नागरिकों के घरों में भारतीयों समेत विदेशी कामगार घरेलू नौकर के रूप में काम नहीं कर सकेंगे। सऊदी अरब का यह फैसला भारत के लिए भी अहम है क्योंकि हर साल बड़ी संख्या में भारतीय नागरिक काम की तलाश के लिए सऊदी अरब जाते हैं, इनमें कई कामगार ऐसे भी हैं जिनकी उम्र 24 साल से कम है।

क्यों किया सऊदी अरब ने बदलाव

आखिर सऊदी अरब ने ऐसा कदम क्यों उठाया? कई रिपोर्ट्स बताती हैं कि सऊदी अरब ने घरेलू श्रम बाजार को सुव्यवस्थित और विनियमित करने के लिए यह फैसला लिया है। सऊदी मानव संसाधन मंत्रालय ने ग्राहकों के लिए मुसेन्ड प्लेटफॉर्म भी स्थापित किया है। यहां उनके अधिकार, कर्तव्य और संबंधित कार्यों के बारे में बताया जाएगा। इस प्लेटफॉर्म के जरिए ही श्रमिकों को वीजा जारी करने और श्रमिकों के बीच बातचीत की व्यवस्था की गई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें