DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हैकिंगः यूक्रेन ने रूस पर लगाया साइबर हमले का आरोप

Russia

यूक्रेन की सरकारी सुरक्षा सेवा (एसबीयू) ने हाल में अपने देश पर हुए साइबर हमले में रूसी सुरक्षा सेवाओं के शामिल होने का दावा करते हुए आज कहा कि इसका उद्देश्य महत्वपूर्ण डाटा को नष्ट करना और दहशत फैलाना था।

एसबीयू ने यह भी कहा कि यूक्रेन में गत मंगलवार को शुरू हुए इस साइबर हमले में वही हैकर शामिल था जो जिसने दिसंबर 2016 में यूक्रेनी पावर ग्रिड पर हमला किया था। यूक्रेनी राजनेताओं ने मंगलवार के हमले के लिए रूस को दोषी ठहराया था लेकिन क्रेमलिन के प्रवक्ता ने आरोपों को 'निराधार' बताते हुए इसे खारिज कर दिया है। 
 
एसयूबी ने कहा, 'अंतरराष्ट्रीय एंटीवायरस कंपनियों के सहयोग से प्राप्त आंकड़ों सहित उपलब्ध आंकडों से हमें यह विश्वास करने का पर्याप्त कारण है कि साइबर हमलों में वही हैकिंग समूह शामिल हैं, जो दिसंबर 2016 में यूक्रेन की वित्तीय प्रणाली, परिवहन और ऊर्जा सुविधाओं पर टेलीबोट्स और ब्लैक एनर्जी का इस्तेमाल कर रही थी।' उन्होंने कहा, 'यह इस साइबर हमले में रूस की विशेष सेवाओं की भागीदारी का भी सबूत देता है।'

गौरतलब है कि 'वानाक्राई रैनसमवेयर' जैसे वायरस ने मंगलवार को पूरी दुनिया पर बड़ा साइबर हमला किया था। इस साइबर हमले का सबसे ज्यादा असर यूक्रेन में हुआ, जहां सरकारी मंत्रालयों, बिजली कंपनियों और बैंक के कंप्यूटर सिस्टम में बड़ी खराबी आई थी। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Russia behind cyber attack says Ukraine security service