ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशरूस के हाथ लगा घातक हथियार, यूक्रेन में कैसे तबाही मचा रहे छोटे से 'सुसाइड ड्रोन'

रूस के हाथ लगा घातक हथियार, यूक्रेन में कैसे तबाही मचा रहे छोटे से 'सुसाइड ड्रोन'

अब रूस ने नया तरीका खोज निकाला है, जिससे वह कम मेहनत से ज्यादा नुकसान कर रहा है। रूस ने ड्रोन्स के जरिए यूक्रेन पर हमलों की शुरुआत की है, जिससे वह बैठे-बैठे ही राजधानी कीव में तबाही मचा रहा है।

रूस के हाथ लगा घातक हथियार, यूक्रेन में कैसे तबाही मचा रहे छोटे से 'सुसाइड ड्रोन'
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 18 Oct 2022 01:15 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

यूक्रेन और रूस के बीच जारी जंग के 8 महीने बीत चुके हैं, लेकिन यह थमने की बजाय बढ़ती ही जा रही है। महीनों तक तोपों और टैंकों से यूक्रेन के शहरों पर हमला बोलने वाले रूस को परेशानी का सामना भी करना पड़ा है। कई जगहों पर यूक्रेनी सैनिकों ने उसके सैनिकों घेर लिया और तोपों समेत वापस लौटने पर मजबूर कर दिया। वहीं अब रूस ने नया तरीका खोज निकाला है, जिससे वह कम मेहनत से ज्यादा नुकसान कर रहा है। रूस ने ड्रोन्स के जरिए यूक्रेन पर हमलों की शुरुआत की है, जिससे वह बैठे-बैठे ही राजधानी कीव में तबाही मचा रहा है। बड़ी-बड़ी इमारतें जमींदोज हो रही है। इसके चलते यूक्रेन को बड़े संकट का सामना करना पड़ रहा है। 

टारगेट पर जाकर फट जाते हैं ड्रोन, मचाते हैं भारी तबाही

ईरान में बने ये 'कामिकेज ड्रोन्स' रूस के लिए बेहद कारगर साबित हो रहे हैं। अब तक रूस ने मिसाइलों के जरिए ही यूक्रेन पर अटैक किए थे, जो इतने कामयाब नहीं थे। लेकिन अब ड्रोन्स के जरिए उसे ऐसा अचूक हथियार मिल गया है, जिससे वह यूक्रेन को नेस्तनाबूद कर रहा है। इन्हें आत्मघाती ड्रोन भी कहा जा रहा है क्योंकि इनमें बड़े पैमाने पर विस्फोटक भऱा होता है और टारगेट के पास जाकर ये फट जाते हैं। इससे दुश्मन को बड़ा नुकसान होता है। इन्हीं के जरिए रूस ने अब यूक्रेन के शहरी केंद्रों, इन्फ्रास्ट्रक्चर और पावर स्टेशनों पर भी हमला बोला है। कहा जा रहा है कि लागत के मामले में भी ये काफी सस्ते पड़ते हैं। 

2,000 किलोमीटर तक उड़ान भरते हैं ये ड्रोन

रक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि ये ड्रोन क्रूज मिसाइल से ज्यादा घातक साबित हो रहे हैं। ये टारगेट के ऊपर मंडराते हैं और फिर तेजी से नीचे आते हुए फट जाते हैं। A शेप में बने ये ड्रोन तेजी से उड़ान भरते हैं। यूक्रेन के लिए बड़ी टेंशन यह है कि अब वह अपनी आयुध सामग्री को कहां रखे। ये सुसाइड ड्रोन्स 2,000 किलोमीटर तक उड़ान भर सकते हैं और टारगेट पर गिरने से पहले देर तक मंडराता है। इन ड्रोन्स के हमलों ने यूक्रेन की सारी रणनीति ही बिगाड़ दी है। रूस अब इन ड्रोन्स के जरिए राजधानी कीव समेत कई शहरों पर हमला बोल रहा है। 

आम नागरिक मारे जा रहे, गर्भवती महिला भी बनी निशाना

हालांकि रूस की इन हमलों के लिए दुनिया भर में निंदा भी हो रही है। कई रिहायशी इलाकों को भी यूक्रेन की ओर से निशाना बनाया जा रहा है, जिसमें आम नागरिकों की मौत भी खबरें आ रही हैं। यूक्रेनी राष्ट्रपति की पत्नी उलेना जेलेंस्का ने भी ऐसे ही एक हमले की तस्वीरें ट्वीट की हैं और एक गर्भवती महिला समेत तीन लोगों की मौत की बात कही है। जेलेंस्का ने कहा कि रूस के हमलों में आम नागरिक, बच्चे और गर्भवती महिलाएं तक मारी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि हमारे परिजनों को मारने वालों को हम कभी माफ नहीं करेंगे, भूलेंगे नहीं। वहीं यूक्रेन की अथॉरिटीज का कहना है कि इन हमलों में 4 लोगों की मौत कीव में हुई है। इसके अलावा सुमी इलाके में भी 4 लोग मारे गए हैं।