ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेश2024 में राष्ट्रपति को लेकर बाइडन और ट्रंप में ही होगी टक्कर? किसी तीसरे का कितना चांस

2024 में राष्ट्रपति को लेकर बाइडन और ट्रंप में ही होगी टक्कर? किसी तीसरे का कितना चांस

यूएस में किसी भी तीसरे पक्ष के उम्मीदवार का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जीतना मुश्किल है। हालांकि, ऐसे नेताओं ने कई बार प्रमुख पार्टी के उम्मीदवारों से वोट लेकर खेल बिगाड़ने में बड़ी भूमिका निभाई।

2024 में राष्ट्रपति को लेकर बाइडन और ट्रंप में ही होगी टक्कर? किसी तीसरे का कितना चांस
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,वाशिंगटनSat, 18 Nov 2023 10:59 PM
ऐप पर पढ़ें

अगले साल (2024) अमेरिका में राष्ट्रपति पद को लेकर चुनाव होना है। इसमें रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप या डेमोक्रेट लीडर जो बाइडन के बीच मुकाबला होने की उम्मीद है। हालांकि, संभावित विकल्प की तलाश में कई अमेरिकी युवा भी बेताब नजर आते हैं। तीसरे पक्ष के उम्मीदवारों के समर्थन को लेकर चर्चा तेज हो रही है। हालांकि, 1990 के दशक के बाद से ही ऐसा नहीं देखा गया है। 2024 में राष्ट्रपति पद को लेकर मुकाबला ऐसे समय में हो रहा है जब देश आर्थिक चिंताओं, तीव्र राजनीतिक विभाजन, गाजा पर विवादास्पद अमेरिकी समर्थित इजरायली हमले और अमेरिकी लीडरशिप की नई पीढ़ी के लिए अपील जोर पकड़ रही है।

हाल ही में हुए सर्वेक्षण के अनुसार, लगभग 63% अमेरिकी वयस्क इस बात से सहमत हैं कि रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टियां अमेरिकियों के प्रतिनिधित्व को लेकर खराब काम कर रही हैं और तीसरी प्रमुख पार्टी की जरूरत है। पिछले साल की तुलना में इस बार ऐसा मामने वालों का आंकड़ा 7 फीसदी अधिक है। बाइडन और ट्रंप दोनों ही इन दिनों शुरुआती चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। एक तरफ जहां बाइडन अपनी बढ़ती उम्र को लेकर सवालों के घेरे में हैं तो ट्रंप कुछ कानूनी अड़चनों में फंसते नजर आते हैं। हालांकि, इसके बावजूद उनकी पार्टी की ओर से इन्हीं दोनों के उम्मीदवार के तौर पर उभरने की उम्मीद है।

तीसरे पक्ष के उम्मीदवार का चुनाव जीतना मुश्किल
यूएस में किसी भी तीसरे पक्ष के उम्मीदवार का अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जीतना मुश्किल है। हालांकि, ऐसे नेताओं ने कई बार प्रमुख पार्टी के उम्मीदवारों से वोट लेकर खेल बिगाड़ने में बड़ी भूमिका निभाई है। 1992 में अरबपति व्यवसायी रॉस पेरोट ने 19% वोट हासिल किए और व्हाइट हाउस में मौजूदा जॉर्ज एच.डब्ल्यू की जगह डेमोक्रेट बिल क्लिंटन ने जीत दर्ज की। पॉलिटिकल एक्टिविस्ट राल्फ नादर को 2000 में 3% से कम समर्थन मिला, मगर फ्लोरिडा में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार अल गोर से पर्याप्त वोट ले लिए। इस तरह राज्य में जॉर्ज डब्ल्यू बुश को जीत मिली और वह व्हाइट हाउस भी पहुंचे। इस साल रॉबर्ट एफ कैनेडी जूनियर पर नजरें टिकी होंगी जो शुरुआती दौर में बाइडन और ट्रंप को टक्कर देते नजर आ सकते हैं। 

रिपब्लिकन पार्टी से निक्की हेली को बढ़ता समर्थन
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी के सबसे लोकप्रिय नेता बने हुए हैं और उनकी स्वीकृति की रेटिंग 60 प्रतिशत से भी अधिक है। फ्लोडिया के गवर्नर रॉन डेसेंटिस करीब 14 प्रतिशत के साथ दूसरे नंबर पर हैं, लेकिन उनकी लोकप्रियता में पिछले कुछ महीने से गिरावट आ रही हैं। पहले उनकी स्वीकृति की रेटिंग 30 प्रतिशत से अधिक थी। दूसरी ओर रिपब्लिकन पार्टी का उम्मीदवार चुनने के लिए हुई बहस में शानदार प्रदर्शन के बाद से निक्की हेली की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है और उनकी स्वीकृति रेटिंग दोहरे अंक में पहुंच गई है। कैक्सटन अल्टरनेटिव मैनेजमेंट के ब्रूस कोवनर और हार्लन क्रो समेत विरोधी खेमे को चंदा देने वाले कई लोगों ने हेली का समर्थन करने का फैसला किया है। पहले टिम स्कॉट का समर्थन कर रहे केन ग्रिफिथ ने भी हेली को समर्थन देने की घोषणा की है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें