ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशगाजा में पहुंची राहत सामग्री तो सीरिया-लेबनान में बढ़े हमले, इजरायल और हमास युद्ध किधर जा रहा?

गाजा में पहुंची राहत सामग्री तो सीरिया-लेबनान में बढ़े हमले, इजरायल और हमास युद्ध किधर जा रहा?

इजरायल की सेना ने लेबनान की सीमा के पास अन्य 14 बस्तियों के लिए निकासी योजना की भी घोषणा की। पिछले सप्ताह 20,000 से अधिक लोगों की आबादी वाले किर्यत शमोना को खाली करने के लिए कहा गया था।

गाजा में पहुंची राहत सामग्री तो सीरिया-लेबनान में बढ़े हमले, इजरायल और हमास युद्ध किधर जा रहा?
Niteesh Kumarएजेंसी,यरुशलमSun, 22 Oct 2023 08:13 PM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल और हमास के बीच जारी युद्ध में अब नए मोर्चे जुड़ते दिख रहे हैं। एक तरफ जहां गाजा में राहत सामग्री पहुंचनी शुरू हो गई है, वहीं दूसरी ओर कुछ नए ठिकानों पर हमले तेज हो गए हैं। इजरायली युद्धक विमानों ने रविवार को पूरे गाजा में विभिन्न ठिकानों पर अटैक किए। इसके साथ ही सीरिया में 2 हवाई अड्डों और कब्जे वाले वेस्ट बैंक में एक मस्जिद को निशाना बनाया गया जिसका इस्तेमाल आतंकी कर रहे थे। इजरायली सेना के इन हमलों से युद्ध की आग के अन्य मोर्चों पर भी भड़कने की आशंका है। जंग शुरू होने के बाद से इजरायल ने लेबनान के आतंकवादी समूह हिज्बुल्लाह के ठिकानों पर लगभग हर रोज गोलाबारी की है। इजरायल के कब्जे वाले वेस्ट बैंक में भी तनाव बढ़ रहा है, जहां इजरायली सैन्य बल शरणार्थी शिविरों में आतंकवादियों की तलाश कर रहे हैं और हाल के दिनों में 2 हवाई हमले किए हैं।

इस बीच, सीरिया के सरकारी मीडिया ने कहा कि इजरायली हवाई हमलों ने राजधानी दमिश्क और उत्तरी शहर अलेप्पो में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों को निशाना बनाया है। मीडिया में कहा गया कि हमलों में एक व्यक्ति की मौत हो गई और हवाई पट्टी क्षतिग्रस्त हो गई। युद्ध शुरू होने के बाद से इजरायल ने सीरिया में हवाई अड्डों सहित कई ठिकानों पर हमले किए हैं। लेबनान में हिज्बुल्लाह ने कहा कि हमले में शनिवार को उसके 6 लड़ाके मारे गए जो दो सप्ताह पहले शुरू हुए युद्ध के बाद एक दिन में मारे गए लोगों की सबसे बड़ी संख्या है। हिज्बुल्लाह के उपनेता शेख नईम कासिम ने चेताया कि इजरायल और हमास के युद्ध में उसकी अहम भूमिका है। अगर इजरायल गाजा पट्टी पर जमीनी हमले शुरू करता है, तो उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी।

वेस्ट बैंक में इजरायली सैनिकों के साथ बढ़ता संघर्ष
इजरायल ने लेबनान की सीमा के पास अन्य 14 बस्तियों के लिए निकासी योजना की भी घोषणा की। पिछले सप्ताह 20,000 से अधिक लोगों की आबादी वाले किर्यत शमोना को खाली करने के लिए कहा गया था। कब्जे वाले वेस्ट बैंक में इजरायली सैनिकों के साथ संघर्ष, छापे और यहूदी बस्तियों के हमलों में दर्जनों फलस्तीनी मारे गए हैं। इजरायली सैन्य बलों ने क्षेत्र में क्रॉसिंग और शहरों के बीच चौकियों को बंद कर दिया है। उनका कहना है कि इन उपायों का उद्देश्य हमलों को रोकना है। इजरायल ने कहा कि उसने 7 अक्टूबर से अब तक 700 से अधिक फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें 480 संदिग्ध हमास सदस्य भी शामिल हैं। फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, इजरायली सैन्य बलों ने रविवार तड़के वेस्ट बैंक में 5 लोगों की हत्या कर दी। जेनिन शहर में एक मस्जिद पर हवाई हमले में 2 लोग मारे गए, जहां पिछले साल फलस्तीनी आतंकवादियों और इजरायली सैनिकों के बीच भारी गोलीबारी हुई थी।

गाजा पर जमीनी आक्रमण करने जा रहा इजरायल?
ऐसा प्रतीत हो रहा है कि इजरायल 7 अक्टूबर को हमास के हमले की पलटवार में गाजा पर जमीनी आक्रमण शुरू करने की तैयारी में है। सीमा पर टैंक और हजारों सैनिक लामबंद हो चुके हैं। इजरायली सेना ने माना है कि व्यापक निकासी आदेश के बावजूद उत्तरी गाजा में अभी भी हजारों फिलिस्तीनी नागरिक रुके हुए हैं, जिससे किसी भी तरह का जमीनी हमला और जटिल हो जाएगा। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, गाजा में 4,300 से अधिक लोग मारे गए हैं। इसमें एक अस्पताल में विस्फोट से मारे गए लोगों की संख्या भी शामिल है। मालूम हो कि युद्ध में इजराइल में 1,400 से अधिक लोग मारे गए हैं। इनमें से ज्यादातर आम नागरिक थे, जो हमास के शुरुआती हमले के दौरान मारे गए।

गाजा में अभी भी रुके हुए हैं लाखों लोग 
वहीं, सहायता कर्मियों ने कहा कि गाजा में बढ़ते मानवीय संकट के बीच अब तक बहुत कम राहत सामग्री पहुंची है, जहां क्षेत्र की 23 लाख आबादी में से आधे से ज्यादा लोग अपने घर छोड़ चुके हैं। मरीजों और विस्थापित लोगों से भरे अस्पतालों में चिकित्सा आपूर्ति और जनरेटर के लिए ईंधन की कमी हो गई है। इससे डॉक्टरों को कपड़ा सिलने वाली सुइयों के साथ, कीटाणुनाशक के रुप में रसोई के सिरके का उपयोग करके और बिना एनेस्थीसिया के सर्जरी करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। खान यूनिस के नासिर अस्पताल में कार्यरत डॉ. मोहम्मद कंदील ने कहा कि वेंटिलेटर सहित मेडिकल सामग्री की कमी के कारण डॉक्टरों को किसी तरह सीमित संसाधन में मरीजों का इलाज करना पड़ रहा है।