ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशबाइडेन को लगाया गले, ट्रूडो से मिलाया हाथ; इटली में वर्ल्ड लीडर्स से ऐसे मिले पीएम मोदी

बाइडेन को लगाया गले, ट्रूडो से मिलाया हाथ; इटली में वर्ल्ड लीडर्स से ऐसे मिले पीएम मोदी

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इटली में जी7 से इतर पोप फ्रांसिस से मुलाकात की और इस दौरान वे पोप के साथ गर्मजोशी से गले मिले तथा पोप फ्रांसिस को भारत आने का न्योता भी दिया।

बाइडेन को लगाया गले, ट्रूडो से मिलाया हाथ; इटली में वर्ल्ड लीडर्स से ऐसे मिले पीएम मोदी
pm modi met canadian pm trudeau joe biden other world leaders at g7 summit in italy
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,अपुलियाSat, 15 Jun 2024 12:29 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जी-7 आउटरीच सत्र में महत्वपूर्ण द्विपक्षीय बैठकों में भाग लिया और प्रमुख वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की। शिखर सम्मेलन के दौरान, पीएम मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ गर्मजोशी से गले मिले। इस दौरान उन्होंने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से भी मुलाकात की। दोनों नेता हाथ मिलाते नजर आए। 

पीएम मोदी ने एक्स (ट्विटर) पर कहा, "अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मिलना हमेशा खुशी की बात होती है। भारत और अमेरिका वैश्विक भलाई के लिए मिलकर काम करते रहेंगे।" इसके अलावा, कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो के साथ फोटो शेयर करते हुए पीएम मोदी ने एक लाइन में लिखा, "जी7 समिट के दौरान कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो से मुलाकात।"

अपने सोशल मीडिया अपडेट में मोदी ने ब्राजील के राष्ट्रपति लुईस इनासियो लूला दा सिल्वा, तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यप एर्दोआन, संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान और संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस सहित अन्य विश्व नेताओं के साथ अपनी बातचीत का भी जिक्र किया। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इटली में जी7 से इतर पोप फ्रांसिस से मुलाकात की और इस दौरान वे पोप के साथ गर्मजोशी से गले मिले तथा पोप फ्रांसिस को भारत आने का न्योता भी दिया। मोदी ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, “जी7 शिखर सम्मेलन के मौके पर पोप फ्रांसिस से मुलाकात की। मैं लोगों की सेवा करने और हमारे ग्रह को बेहतर बनाने के लिए उनकी प्रतिबद्धता की प्रशंसा करता हूं। साथ ही उन्हें भारत आने का न्योता भी दिया।”