ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेश कोविशील्ड लगवाने वालों को हो सकती है यह दुर्लभ बीमारी, नए रिसर्च ने बढ़ाई टेंशन

कोविशील्ड लगवाने वालों को हो सकती है यह दुर्लभ बीमारी, नए रिसर्च ने बढ़ाई टेंशन

कोविशील्ड नामक ब्रांड के तहत बेची जाने वाली एस्ट्राजेनेका वैक्सीन से वैक्सीन-प्रेरित इम्यून थ्रोम्बोसाइटोपेनिया और थ्रोम्बोसिस (वीआईटीटी) नामक एक दुर्लभ रक्त का थक्का जमने वाली बीमारी होने का खतरा है।

 कोविशील्ड लगवाने वालों को हो सकती है यह दुर्लभ बीमारी, नए रिसर्च ने बढ़ाई टेंशन
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 16 May 2024 06:32 PM
ऐप पर पढ़ें

एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सनी कोविशील्ड लगवाने वालों को खून का थक्का जमने की दुर्लभ बीमारी का सामना करना पड़ सकता है। हाल ही में एक रिसर्च में चौंकाने वाला खुलासा किया गया है। ब्रिटिश-स्वीडिश फार्मा कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा दुनिया भर में अपने कोविड-19 टीके वापस लेने के एक सप्ताह बाद नए शोध ने लोगों में हैरानी पैदा कर दी है। शोधकर्ताओं ने पाया कि भारत में कोविशील्ड नाम से बेची जाने वाली एस्ट्राजेनेका वैक्सीन से वैक्सीन-प्रेरित इम्यून थ्रोम्बोसाइटोपेनिया और थ्रोम्बोसिस (वीआईटीटी) नामक एक दुर्लभ रक्त का थक्के जमने की बीमारी होने का खतरा है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लिंडर्स यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों के अनुसार, वीआईटीटी 2021 नई बीमारी नहीं है बल्कि यह में कोविड-19 महामारी के दौरान उभरी। यह विशेष रूप से ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के इस्तेमाल के बाद ही उभरी। फ्लिंडर्स यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने हाल ही में न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में अपना यह अध्ययन साझा किया। 

वैज्ञानिकों ने पाया कि वीआईटीटी एक हानिकारक रक्त ऑटोएंटीबॉडी के कारण होता है जो प्लेटलेट फैक्टर 4 (पीएफ4) नामक प्रोटीन को टारगेट करता है। 2023 में किए गए अध्ययनों में, कनाडा, उत्तरी अमेरिका, जर्मनी और इटली के शोधकर्ताओं ने पीएफ4 एंटीबॉडी की विशेषता वाली लगभग समान स्थिति का वर्णन किया, जो प्राकृतिक एडेनोवायरस संक्रमण के बाद कुछ मामलों में घातक साबित हुई। 

एक नए शोध में, ऑस्ट्रेलिया के फ्लिंडर्स विश्वविद्यालय ने अन्य विशेषज्ञों ने पाया कि एडेनोवायरस संक्रमण से जुड़े वीआईटीटी के साथ-साथ क्लासिक एडेनोवायरल वेक्टर वीआईटीटी में पीएफ4 एंटीबॉडी समान एटॉमिक फिंगरप्रिंट साझा कर रहे थे। जो रक्त का थक्का जमने के कारक हो सकते हैं।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें