ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशबर्फ में रेस के दौरान जम गया पेनिस, फिर... खिलाड़ी ने बताया दर्दनाक अनुभव

बर्फ में रेस के दौरान जम गया पेनिस, फिर... खिलाड़ी ने बताया दर्दनाक अनुभव

फिनलैंड में स्कीइंग वर्ल्ड कप के दौरान एक खिलाड़ी का पेनिस जम गया। इसके बाद उसे शिविर ले जाना पड़ा। हीटिंग के बाद उसे राहत मिली। खिलाड़ी ने अपना दर्दनाक अनुभव साझा किया है।

बर्फ में रेस के दौरान जम गया पेनिस, फिर... खिलाड़ी ने बताया दर्दनाक अनुभव
Ankit Ojhaएजेंसियां,हेलसिंकीTue, 28 Nov 2023 02:29 PM
ऐप पर पढ़ें

स्वीडन के एक स्कीयर का कहना है कि वर्ल्ड कप में क्रॉस कंट्री रेस के दौरान उनका पेनिस जम गया जिसके बाद उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। बता दें कि फिनलैंड में इस टूर्नामेंट का आयोजिन किया जा रहा था। स्वीडिश स्कीयर केल हाफवरसन ने 20 किलोमीटर की रेस में हिस्सा लिया था। उन्होंने कहा कि रेस के दौरान उनका पेनिस जम गया और फिर उन्हें कैंप में शरण लेनी पड़ी। रॉयटर्स के मुताबिक फिनलैंड में तापमान -15 डिग्री से भी नीचे जा चुका है। आम तौर पर स्कीइंग कॉम्पटिशन भी कड़ाके की ठंड में ही आयोजिक किए जाते हैं जब पर्याप्त मात्रा में बर्फ होती है। 

अपना अनुभव बताते हुए हाफवरसन ने कहा, मेरा पेनिस एकदम जम गया था। इसके बाद 10 मिनट तक हमने इसे गर्म किया। मुझे काफी दिक्कत हुई। यह बहुत ही भयानक हो गया। हाफवरसन को पहले भी इस तरह की शिकायत हो चुकी है। उन्होंने कहा, शुक्र है कि मेरेदो बच्चे हैं। वरना मैं जिस तरह के खेल में हूं, कुछ कहा नहीं जा सकता कि बच्चे करने लायक रहूं या नहीं। बता दें कि इस तरह की दिक्कत के बाद हाफवरसन रेस भी नहीं जीत पाए और पहले ही बाहर हो गए। 

इस स्पर्धा में नॉर्वे के जैन थॉमस पहले नंबर पर हे। दूसरे नंपर पर चेक रिपब्लिक के माइकल नोवाक और तीसरे पर ओस्टबर्ग अमंस्डन रहे। बता दें कि क्रॉस कंट्री स्कीयर आम तौर पर स्किन टाइट रेसिंग सूट पहनकर खेल में हिस्सा लेते हैं। इसके नीचे एक पतला अंडरलेयर होता है। साल 2022 में बीजिंग में होने वाले विंटर ओलंपिक के दौरान फिनलैंड के रेमी लेंडहोम को भी फ्रोजेन पेनिस की दिक्कत हुई थी। इसके बाद उन्होंने हीट पैक का इस्तेमाल किया। 

रुका में इन खेलों का आयोजन किया जा रहा है। यह ऐसा इलाका है जहां बेहद ठंड होती है। लेंडहोम को भी रुका में एक बार फ्रोजन पेनिस की समस्या हुई थी। हाफवरसन ने कहा, उस समस्या को कोई और नहीं समझ सकता। हालांकि मैं इतना जरूर कहना चाहता हूं कि आपको इससे बचकर रहना चाहिए। यह बहुत ही बुरी बीमारी है। प्रिंस हैरी ने अपनी आत्मकथा में इस तरह की बात लिखी थी। उनका कहना था कि नॉर्थ पोल की यात्रा के दौरान 2011 में उन्हें फ्रोजन पेनिस से जूझना पड़ा था। 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें