ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशपाकिस्तान में ईद के मौके पर टमाटर ने दिखाए तेवर, एक दिन में बढ़ गया इतना भाव

पाकिस्तान में ईद के मौके पर टमाटर ने दिखाए तेवर, एक दिन में बढ़ गया इतना भाव

ईद-उल-अजहा के मौके पर भी पाकिस्तान में महंगाई कम नहीं हो रही है। कुछ दिन पहले आए बजट में शहबाज शरीफ सरकार ने महंगाई को कम करने की वकालत की थी लेकिन ऐसा कुछ होता हुआ दिख नहीं रहा है।

पाकिस्तान में ईद के मौके पर टमाटर ने दिखाए तेवर, एक दिन में बढ़ गया इतना भाव
tomato price hike offer to smartphone buyer in mp buy mobile get tomato free scheme
Upendraलाइव हिंदुस्तान,इस्लामाबादMon, 17 Jun 2024 07:39 PM
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान में ईद के मौके पर महंगाई ने लोगों की हालत खराब कर रखी है। टमाटर के दाम एक दिन में 100 रुपया से ज्यादा बढ़कर 200 रुपया किलो से भी ज्यादा हो गए हैं, कई जगहों पर यह 250 तक पहुंच गए हैं। जिलों के प्रशासन ने टमाटर का मार्केट रेट 100 रुपया फिक्स कर रखा है लेकिन इसके बाद भी टमाटर के दाम आसमान छू रहे हैं। रमजान और ईद के मौकों पर टमाटर जैसी चीजों की खपत बढ़ने के कारण कीमत बढ़ने की उम्मीद ज्यादा रहती है लेकिन प्रशासन द्वारा इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। जिससे जमाखोरी बढ़ गई और दाम आसमान पर चढ़ गए। लगातार बढ़ती कीमतों के बीच पेशावर के जिला प्रशासन ने धारा 144 का प्रयोग करते हुए टमाटर को जिले से बाहर ले जाने पर रोक लगा दी है।
आज ईद के मौके पर पाकिस्तान में टमाटर, प्याज और आलू के भाव बढ़े हुए हैं, यह भावों के बढ़ने का क्रम रमजान के क पहले हफ्ते से ही शुरू हो गया था लेकिन प्रशासन की तरफ से इस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया। जिससे यह भाव लगातार बढ़ते गए।
सब्जियों और रोजमर्रा की चीजों के बढ़ते हुए दामों को लेकर रहवासियों ने भी अपनी हताशा जाहिर की, उन्होंने कहा कि बाकी सब तो ठीक है हम झेल रहे हैं लेकिन यह एक दिन में 100 रुपय किलो तक दाम बढ़ जाना कहां तक सही है। जिला प्रशासन के नियम कायदे केवल कहने भर को हैं, कोई भी इनकी नहीं सुनता।

बजट में महंगाई कम करने का किया था वादा
हाल ही में आए पाकिस्तानी बजट में पाकिस्तानी सरकार ने महंगाई को कम करने का वादा किया था, उनके वादे कि धज्जियां कुछ ही दिनों में उड़ती हुई दिखाई दे रही हैं। सरकार ने वादा किया था कि वे महंगाई दर को अगले एक साल तक 12 फीसदी पर ही रोकने की कोशिश करेंगे। लेकिन जमीनी स्तर पर माहौल उसके बिलकुल उलट दिखाई दे रहा है।

IMF से लोन लेने के लिए बढ़ानी होगी महंगाई 
पाकिस्तान में महंगाई को कम रखना सरकार के बस में भी ज्यादा नहीं है, सरकार एक बार फिर से आईएमएफ के पास लोन लेने के लिए जा रही है। ऐसे में उसे आईएमएफ की शर्तों के हिसाब से अपनी योजनाएं तैयार करनी होगी, साथ ही साथ टैक्स के दायरे को भी बढ़ाना होगा। जिससे पाकिस्तान में महंगाई अभी और बढ़ेगी।