ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशहम तो बदनाम हुए तालिबान तेरे लिए... पाकिस्तान का बढ़ रहा विरोध, बेल्जियम में अफगानियों ने लगाए नारे

हम तो बदनाम हुए तालिबान तेरे लिए... पाकिस्तान का बढ़ रहा विरोध, बेल्जियम में अफगानियों ने लगाए नारे

अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने के बाद से हजारों अफगान नागरिक देश छोड़कर भाग रहे हैं उन्हें डर है कि तालिबान के वापस आने से उनकी आजादी छीन ली जाएगी। विदेशों में रह रहे कई अफगानी लोग तालिबान का...

हम तो बदनाम हुए तालिबान तेरे लिए... पाकिस्तान का बढ़ रहा विरोध, बेल्जियम में अफगानियों ने लगाए नारे
लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्ली Tue, 31 Aug 2021 10:20 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने के बाद से हजारों अफगान नागरिक देश छोड़कर भाग रहे हैं उन्हें डर है कि तालिबान के वापस आने से उनकी आजादी छीन ली जाएगी। विदेशों में रह रहे कई अफगानी लोग तालिबान का विरोध कर रहे हैं और उसके खिलाफ नारे लगा रहे हैं। पाकिस्तान के तालिबान को समर्थन देने की बात किसी से छुपी नहीं है। आतंकवाद को पालने वाले पाकिस्तान के खिलाफ भी अफगानी लोग विरोधी नारे लगा रहे हैं। ये विरोधी नारे बेल्जियम में रहने वाले कुछ अफगान नागरिकों ने लगाए हैं। ये लोग तालिबान द्वारा अफगानिस्तान पर किए कब्जे का विरोध कर रहे थे।

बेल्जियम में रहने वाले अफगानिस्तान के प्रवासियों ने तालिबान द्वारा अपने देश के शत्रुतापूर्ण अधिग्रहण के विरोध में सोमवार को राजधानी ब्रसेल्स में एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। यूरोपीय आयोग (ईसी) और यूरोपीय बाहरी कार्रवाई सेवा (ईईएएस) भवन के सामने, शूमन सर्कल में विरोध का आयोजन किया गया था। प्रदर्शनकारियों ने तालिबान का समर्थन करने के लिए पाकिस्तान के खिलाफ नारे भी लगाए। विरोध प्रदर्शन में अफगान प्रवासी के लगभग 60-70 सदस्यों ने भाग लिया। कुछ प्रदर्शनकारियों को सेना की लड़ाकू वर्दी पहने देखा गया।

15 अगस्त को अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद से विभिन्न देशों में रहने वाले अफगान नागरिकों द्वारा कई विरोध प्रदर्शनों का आयोजन किया गया है। रविवार को लगभग 800 प्रदर्शनकारियों ने ग्रीक संसद के सामने विरोध प्रदर्शन किया और अफगानिस्तान में बिगड़ते हालात के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया।

उन्होंने नारे लगाए जैसे - "अफगानिस्तान-पाकिस्तान पाकिस्तान को किसने मारा"; "पाकिस्तान आतंकवादियों का समर्थन करता है"; और "अफगानों को मारना बंद करो।" शनिवार को, वाशिंगटन, लंदन और बर्लिन सहित 30 से अधिक शहरों में दुनिया भर में इसी तरह के विरोध प्रदर्शन हुए। प्रदर्शनकर्ताओं के हाथों में पोस्टर देखें गए जिनपर लिखा था- अफगानिस्तान बचाओं

इस बीच, संयुक्त राज्य अमेरिका ने सोमवार को कहा कि अफगानिस्तान में उसका मिशन समाप्त हो गया है। रक्षा विभाग ने घोषणा की है कि वह अफगानिस्तान छोड़ चुके हैं। अफगानिस्तान से आखिरी विमान के उड़ जाने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि अफगानिस्तान में 20 साल से मौजूद उनकी सैन्य उपस्थिति अब खत्म हो गई है। उन्होंने अपने कमांडरों को धन्यवाद देते हुए कहा कि कमांडरों ने बिना किसी और अमेरिकी की जान गंवाए अफगानिस्तान से अपनी निकासी पूरी की।