ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशजनता का फैसला कबूल कर हो जाएं रिटायर, लोकसभा चुनाव के नतीजों पर बोले पाक के पूर्व मंत्री

जनता का फैसला कबूल कर हो जाएं रिटायर, लोकसभा चुनाव के नतीजों पर बोले पाक के पूर्व मंत्री

एक अन्य पोस्ट में फवाद चौधरी ने कहा कि चूंकि भारत के चुनाव पर मेरी हर भविष्यवाणी लगभग सही साबित हुई, इसलिए मैं यह कहने का साहस करता हूं कि मोदी निश्चित रूप से प्रधानमंत्री बनेंगे, लेकिन...

जनता का फैसला कबूल कर हो जाएं रिटायर, लोकसभा चुनाव के नतीजों पर बोले पाक के पूर्व मंत्री
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,इस्लामाबादWed, 05 Jun 2024 06:52 PM
ऐप पर पढ़ें

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी बहुमत के आंकड़े से दूर रह गई। बीजेपी को 240 सीटों पर जीत मिली है। पार्टी यूपी की फैजाबाद लोकसभा सीट तक हार गई। इसी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत अयोध्या आती है, जहां पर जनवरी महीने में राम मंदिर का उद्घाटन हुआ था। फैजाबाद में बीजेपी कैंडिडेट लल्लू सिंह को मिली हार पर पाकिस्तान के पू्र्व मंत्री फवाद चौधरी ने भी प्रतिक्रिया दी है। भारत के लोकसभा चुनाव के नतीजों पर बीच में टांग अड़ाते हुए फवाद चौधरी ने कहा है कि पीएम मोदी को जनता का फैसला कबूल करते हुए राजनीति से रिटायर हो जाना चाहिए।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी नेताओं में शामिल और मंत्री रह चुके चौधरी फवाद हुसैन ने एक के बाद एक कई पोस्ट किए। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर फवाद ने लिखा, '' मोदी जी तो अयोध्या को राम जी की धरती कहते थे तो फिर इसी हिसाब से राम जी की जनता का फैसला भी कबूल फरमाएं और राजनीति को गुड बाये कह दें अब।'' पाकिस्तान के पूर्व मंत्री ने यह पोस्ट हिंदी में ही लिखा है। 

फवाद चौधरी के इस पोस्ट के बाद पाकिस्तान समेत अन्य लोगों ने उन पर निशाना साधा है। एक यूजर ने लिखा है कि आपको रावण का सुझाव मानना चाहिए और पॉलिटिक्स से रिटायर हो जाना चाहिए, जबकि एक और यूजर का कहना है कि यह भारत का आंतरिक मामला है, उसमें क्यों बोल रहे। वहीं, एक अन्य पोस्ट में फवाद चौधरी ने कहा कि चूंकि भारत के चुनाव पर मेरी हर भविष्यवाणी लगभग सही साबित हुई, इसलिए मैं यह कहने का साहस करता हूं कि मोदी निश्चित रूप से प्रधानमंत्री बनेंगे, लेकिन उनकी सरकार के कार्यकाल पूरा करने की संभावना लगभग शून्य है, अगर इंडिया गठबंधन अपने पत्ते अच्छी तरह से खेलता है तो भारत में मध्यावधि चुनाव होंगे।

एनडीए और इंडिया को कितनी मिलीं सीटें?
लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो चुके हैं। एनडीए को 293 सीटें मिली हैं, जबकि इंडिया गठबंधन को 233। 17 सीटें अन्य के खाते में गई हैं। वहीं, एनडीए में बीजेपी को 240, टीडीपी को 16, जेडीयू को 12, शिवसेना को सात, चिराग पासवान की पार्टी को पांच, जेडीएस को दो सीटें मिली हैं। इंडिया अलायंस की बात करें तो कांग्रेस ने पिछले दस सालों में सबसे दमदार प्रदर्शन किया है और 99 सीटों पर जीत हासिल की है। वहीं, समाजवादी पार्टी ने यूपी में 37 सीटें जीतते हुए सबको हैरान कर दिया। तृणमूल कांग्रेस के खाते में पश्चिम बंगाल में 29 सीटें, डीएमके को 22, शिवसेना यूबीटी को नौ, एनसीपी शरद पवार को आठ, सीपीआईएम को चार, आरजेडी को चार सीटें मिली हैं। इसके अलावा, आम आदमी पार्टी ने भी लोकसभा चुनाव में तीन सीटों पर कब्जा किया है।