DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PAK विदेश मंत्री कुरैशी ने अमेरिकी NSA बोल्टन को किया फोन, भारत के साथ तनाव पर चर्चा

Mahmood Qureshi

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पुलवामा हमले के बाद भारत के साथ तनाव कम करने के लिए इस्लामाबाद द्वारा उठाये गये कदमों के बारे में अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन को सोमवार को अवगत कराया। कश्मीर के पुलवामा जिले में गत 14 फरवरी को पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर के हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे, जिसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था।

बढ़ते आक्रोश के बीच भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के अंदर बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के एक प्रशिक्षण शिविर पर बड़ी कार्रवाई की थी। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय (एफओ) ने कहा कि कुरैशी और बोल्टन ने टेलीफोन पर हुई बातचीत के दौरान पुलवामा घटना के बाद क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति पर विचार-विमर्श किया। एफओ ने कहा, ''टेलीफोन कॉल करने का उद्देश्य उन्हें (बोल्टन) हाल के घटनाक्रमों के बारे में पाकिस्तान का दृष्टिकोण बताना था।"

PAK अधिकारी ने कहा- भारत पानी का प्रवाह नहीं रोक सकता

कुरैशी ने कहा कि 26 फरवरी की भारतीय ''आक्रामकता पाकिस्तान की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उल्लंघन है।" उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना के हमले के अगले दिन 27 फरवरी को पाकिस्तान की कार्रवाई ''पूरी तरह से बाहरी आक्रमण" के खिलाफ आत्मरक्षा में की गई थी। एफओ ने कहा कि विदेश मंत्री ने ''बोल्टन को पाकिस्तान द्वारा तनाव कम" करने के लिए उठाये गये कदमों के बारे में बताया।

कुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के प्रति सद्भावना प्रकट करते हुए भारतीय पायलट को उनके हवाले कर दिया। पाकिस्तान क्षेत्र की शांति और स्थिरता चाहता है। उन्होंने कहा कि भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद विचार-विमर्श करने के बाद दिल्ली लौट गये है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान 14 मार्च को भारत के लिए एक आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल भेजेगा, जो करतारपुर गलियारे के संचालन के तौर-तरीकों पर चर्चा करेगा और वह सैन्य संचालन महानिदेशालय के स्तर पर साप्ताहिक बैठक जारी रखने के लिए भी तैयार है।

भारत-अमेरिका की पाकिस्तान को दो टूक, आतंकियों को खत्म करने के लिए 'ठोस कार्रवाई' करो

एफओ ने एक बयान में कहा कि बोल्टन ने पाकिस्तान के कदमों की प्रशंसा की जिससे तनाव कम होने में मदद मिली। उन्होंने दोनों पक्षों से संयम बरतने का अनुरोध किया। बयान में कहा गया है, ''सभी विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए पाकिस्तान और भारत के बीच बातचीत की आवश्यकता पर भी जोर दिया गया।

इसमें कहा गया है, ''विदेश मंत्री ने आगामी चुनावों को ध्यान में रखते हुए किसी भी भारतीय दुस्साहस के खिलाफ चेतावनी दी। राजदूत बोल्टन ने इस पर सहमति जताई।" बयान में कहा गया कि बोल्टन ने भी अफगानिस्तानी शांति प्रक्रिया में पाकिस्तान की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की। दोनों नेता प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए एक साथ काम करने पर सहमत हुए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Pakistan FM Shah Mahmood Qureshi Telephone US NSA John Bolton tensions with India