ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशडिफॉल्टर होने से बचा पाकिस्तान, समय से पहले चुका दिए एक अरब डॉलर

डिफॉल्टर होने से बचा पाकिस्तान, समय से पहले चुका दिए एक अरब डॉलर

स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) के प्रवक्ता आबिद कमर ने अखबार को बताया, 'हमने एक अरब डॉलर का भुगतान कर दिया है।’’ उन्होंने बताया कि सिटीग्रुप को भुगतान कर दिया है, जो निवेशकों को धन हस्तांतरित करेगा।

डिफॉल्टर होने से बचा पाकिस्तान, समय से पहले चुका दिए एक अरब डॉलर
Amit Kumarएजेंसियां,इस्लामाबादSat, 03 Dec 2022 04:32 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पड़ोसी देश पाकिस्तान फिलहाल के लिए डिफॉल्टर होने से बच गया है। पाकिस्तान ने समय से पहले एक अरब डॉलर चुका दिए हैं। रिपोर्टों के मुताबिक, पाकिस्तान ने शुक्रवार को तय समय से तीन दिन पहले एक अरब अमेरिकी डॉलर के अंतरराष्ट्रीय सुकुक (शरिया आधारित बांड) बांड का भुगतान कर दिया। इस तरह नकदी की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान ने धन अदायगी में चूक को टाल दिया है।

समाचार पत्र द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने शनिवार को बताया कि तय कार्यक्रम के अनुसार पांच दिसंबर को अमेरिकी डॉलर मूल्य वर्ग वाले वैश्विक बांड के परिपक्व निवेश की अदायगी करनी थी। स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान (एसबीपी) के प्रवक्ता आबिद कमर ने अखबार को बताया, 'हमने एक अरब डॉलर का भुगतान कर दिया है।’’ उन्होंने बताया कि सिटीग्रुप को भुगतान कर दिया है, जो निवेशकों को धन हस्तांतरित करेगा।

बता दें कि आर्थिक बदहाली से गुजर रहा पाकिस्तान डिफॉल्टर होने के करीब पहुंच था। पाकिस्तान को 5 दिसंबर तक पांच साल के सुकुक या इस्लामिक बॉन्ड की मैच्युरिटी पर 1 बिलियन अमरीकी डालर का भुगतान करना था। राजनीतिक उथल-पुथल और अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ बातचीत को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है। ऐसे में पाकिस्तान का डिफॉल्ट जोखिम तेजी से बढ़ा है। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, देश के डिफॉल्टर बनने के जोखिम को पांच साल के क्रेडिट-डिफॉल्ट स्वैप (CDS) से मापा जाता है। सीडीएस एक तरह का बीमा कॉन्ट्रैक्ट होता है, जो कि किसी निवेशक को देश के डिफॉल्टर बनने की दशा में आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है।