ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशसिर्फ दुआ-सलाम, जी-7 मीटिंग में PM मोदी जस्टिन ट्रुडो संग नहीं करेंगे कोई बात

सिर्फ दुआ-सलाम, जी-7 मीटिंग में PM मोदी जस्टिन ट्रुडो संग नहीं करेंगे कोई बात

इटली में हो रहे जी-7 सम्मेलन में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के साथ पीएम मोदी की मुलाकात होगी, लेकिन उनके साथ कोई द्विपक्षीय बैठक की योजना नहीं है।

सिर्फ दुआ-सलाम, जी-7 मीटिंग में PM मोदी जस्टिन ट्रुडो संग नहीं करेंगे कोई बात
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 09:16 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को इटली के लिए रवाना हो गए, जहां वे जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। प्रधानमंत्री पांचवीं बार इस सम्मेलन में भाग ले रहे हैं और सम्मेलन में सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक होंगे। हालांकि, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के साथ पीएम मोदी की मुलाकात होगी, लेकिन उनके साथ कोई द्विपक्षीय बैठक की योजना नहीं है।

पिछली बार ट्रूडो के साथ भारत के द्विपक्षीय अनुभव निराशाजनक रहे हैं, क्योंकि कनाडाई प्रधानमंत्री भारत के प्रति बढ़ते खालिस्तानी आतंकवाद के मुद्दे पर बात करने के लिए तैयार नहीं थे। भारत जस्टिन ट्रूडो की हरकतों से सबसे अधिक नाखुश तब हुआ जब उन्होंने आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत के एजेंटों का हाथ बताया। 18 सितंबर को जस्टिन ट्रूडो ने कनाडा की संसद में निज्जर की हत्या के संबंध में भारत पर निराधार आरोप लगाए। जिसके बाद से भारत और कनाडा के बीच तल्खियां बढ़ गईं।

बता दें निज्जर एक घोषित आतंकवादी था, जिसके खिलाफ भारत में कम से कम 10 मामले दर्ज थे। उसके खिलाफ इंटरपोल द्वारा रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था और वह कनाडा स्थित गैंगस्टर अर्शदीप सिंह, रिंकू बिहला और गोल्डी बरार का गुरु था। पिछले अक्टूबर में कनाडा को भारत से अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाने के लिए मजबूर होना पड़ा था, क्योंकि भारत ने देश में तैनात राजनयिकों की संख्या 62 से घटाकर 21 करके उत्तर अमेरिकी देश की राजनयिकों की मौजूदगी में समानता लाने की मांग की थी।

ऐसे आरोप लगे हैं कि कनाडा द्वारा वापस बुलाए गए कुछ राजनयिक भारत में राजनीतिक दलों के नेतृत्व के साथ सीधे संपर्क में थे। यह भी आरोप लगाया गया था कि कनाडा ने राजनीतिक खुफिया जानकारी जुटाने के लिए अपने राजनयिकों को कुछ भारतीय राजनेताओं के साथ जोड़ा था।