DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फेसबुक, गूगल व ट्विटर के अधिकारियों से पूछताछ होगी

अमेरिकी सीनेट कमेटी ऑन कॉमर्स, साइंस एंड ट्रांसपोटेर्शन ने बड़े पैमाने पर हिंसा और चरमपंथ सामग्री परोसने संबंधी मामले में 18 सितंबर को फेसबुक, गूगल और ट्विटर के अधिकारियों को पूछताछ के लिए बुलाया है।

कमेटी ने बुधवार को घोषणा की कि ऑनलाइन चरमपंथ के प्रसार की जांच होगी और हिंसक सामग्री को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से हटाने के प्रयासों के प्रभावों की समीक्षा की जाएगी। सभी गवाह इस पर अपना पक्ष रखेंगे कि हिंसक और खतरनाक सामग्री मिलने के बाद उसकी पहचान कर उसे हटाने के प्रयासों पर कैसे प्रौद्योगिक कंपनियां कानून स्थापित करने वाली संस्थाओं के साथ मिलकर काम कर रही हैं।

फेसबुक की ग्लोबल पॉलिसी हेड मोनिका बिकर्ट, ट्विटर के पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर निक पिकिल्स, गूगल के ग्लोबल डायरेक्टर ऑफ इंफॉर्मेशन डेरेक स्लेटर को गवाह के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। चर्चा का शीर्षक मास वॉयलेंस, एक्स्ट्रीमिज्म एंड डिजिटल रिस्पांसिबिलिटी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Officials of Facebook Google and Twitter will be questioned