DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशउत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने 20 किलो घटाया अपना वजन, खूफिया एजेंसी का दावा

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने 20 किलो घटाया अपना वजन, खूफिया एजेंसी का दावा

एजेंसियां,सोलAshutosh Ray
Thu, 28 Oct 2021 11:09 PM
उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने 20 किलो घटाया अपना वजन, खूफिया एजेंसी का दावा

उत्तर कोरिया के नेता और तानाशाह किम जोंग उन ने हाल के दिनों में लगभग 20 किलो अपना वजन कम किया है। दक्षिण कोरिया की जासूसी एजेंसी ने गुरुवार को सांसदों को यह जानकारी दी। एजेंसी ने बताया कि किम जोंग उन बिगड़ती आर्थिक स्थितियों से निपटने को लेकर जनता के प्रति अपना फर्ज निभाने की कोशिश कर रहे हैं। एजेंसी ने उत्तर कोरियाई नेता द्वारा बॉडी डबल का उपयोग करने की अफवाहें को निराधार बताया है।

राष्ट्रीय खुफिया सेवा (NIS) ने संसदीय बैठक के दौरान यह जानकारी दी। इसमें शामिल दो सांसदों ने बताया कि उसने किम की स्थिति की जांच के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्निक, किम के वीडियो का विश्लेषण और अन्य तरीकों का इस्तेमाल किया। हाल के महीनों में किम के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया गया है क्योंकि वह मीडिया की तस्वीरों और वीडियो में काफी पतले दिखाई दिए हैं।

सांसद किम ब्यूंग-की ने कहा कि एनआईएस ने संसदीय सत्र में बताया कि किम का वजन लगभग 140 किलोग्राम (308 पाउंड) से कम होकर 120 किलोग्राम (264 पाउंड) हो गया है। एनआईएस ने पहले कहा था कि किम लगभग 170 सेंटीमीटर (पांच फुट, आठ इंच) लंबे है। उसने कहा कि  किम इस साल अब तक 70 दिनों के लिए सार्वजनिक गतिविधियों में संलग्न रहे हैं, जो पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 45 प्रतिशत अधिक है। 

37 साल के किम जोंग उन के स्वास्थ्य को लेकर अक्सर अटकलें लगती रहती है। उनकी सार्वजनिक उपस्थिति पर बारीकी से नजर रखी जाती है, खासकर जब से उनके परिवार का इतिहास दिल की बीमारी का इतिहास रहा है। दक्षिण कोरिया के सांसदों ने कहा कि किम जोंग उन समर्थन रैली करना चाह रहा है क्योंकि उत्तर कोरिया पिछले कुछ सालों में भोजन की सबसे खराब कमी का सामना कर रहा है। किम ने अधिकारियों को जितना संभव हो उतना भोजन सुरक्षित करने का निर्देश दिया है। फिच सॉल्यूशंस के अनुसार, कोरोना वायरस की वजह से देश की सीमाओं को बंद करने के किम जोंग उन के फैसले ने स्थिति को बदतर बना दिया है। ऐसा करने से छोटे व्यापार को नुकसान पहुंचा दिया है।

जासूसी एजेंसी की ब्रीफिंग के बाद विपक्षी पीपुल्स पावर पार्टी के सांसद ने कहा है कि इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उत्तर कोरिया का उसके मुख्य साझेदार चीन के साथ व्यापार इस साल जनवरी से सितंबर तक लगभग 185 मिलियन डॉलर गया है, जो कि एक साल पहले का एक तिहाई है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें