DA Image
15 जुलाई, 2020|12:25|IST

अगली स्टोरी

उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के साथ संपर्क कार्यालय बंद करने की धमकी दी

kim jong un

उत्तर कोरिया ने सीमा पर उसके खिलाफ पर्चे भेजने से कार्यकर्ताओं को नहीं रोक पाने के लिए अपने प्रतिद्वंद्वी दक्षिण कोरिया की निंदा की और पड़ोसी देश के साथ एक संपर्क कार्यालय को स्थायी रूप से बंद करने की चेतावनी भी दी है। उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी का बयान शुक्रवार को आया। एक दिन पहले ही देश के नेता किम जोंग उन की प्रभावशाली बहन ने कहा था कि अगर सियोल कार्यकर्ताओं को नहीं रोक पाता तो उनका देश उसके साथ तनाव कम करने के लिए 2018  में हुए सैन्य समझौते को समाप्त कर देगा।

उन की बहन किम यो जोंग ने भी कहा था कि उत्तर कोरिया सीमावर्ती शहर केसांग में संपर्क कार्यालय और एक संयुक्त फैक्ट्री पार्क को भी स्थायी रूप से बंद कर सकता है जो दोनों देशों के बीच सुलह का प्रतीक रहे हैं। उत्तर कोरिया के साथ कमजोर पड़ती अपनी कूटनीति को जीवंत बनाये रखने के लिए परेशान दक्षिण कोरिया ने जवाब में कहा कि वह उत्तर कोरिया की ओर गुब्बारों से पर्चे भेजने से कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए नये कानून बनाएगा। 

लेकिन वर्कर्स पार्टी के अंतर-कोरियाई मामलों के विभाग के एक अज्ञात प्रवक्ता ने कहा कि सियोल के वादे में गंभीरता नहीं है और उत्तर कोरिया द्वारा उठाये जाने वाले कदमों की श्रृंखला में संपर्क कार्यालय को बंद करना पहला कदम होगा जिससे दक्षिण कोरिया को बहुत नुकसान होगा। बयान में कहा गया कि जोंग के निर्देशों के तहत उत्तर कोरिया ने पहले कदम के तौर पर केसांग औद्योगिक क्षेत्र में स्थित संयुक्त संपर्क कार्यालय को निश्चित रूप से बंद करने का फैसला किया है।
    

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:North Korea threatened to close liaison office with South Korea