ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशखालिस्तानी आतंकी निज्जर मर्डर केस में कनाडा की भारत को गीदड़भभकी, जब तक मोदी सरकार...

खालिस्तानी आतंकी निज्जर मर्डर केस में कनाडा की भारत को गीदड़भभकी, जब तक मोदी सरकार...

कनाडा की ट्रेड मिनिस्टर ने धमकी दी है कि जब तक मोदी सरकार निज्जर की हत्या की जांच में सहयोग नहीं करती, कनाडा भारत के साथ व्यापार वार्ता फिर से शुरू नहीं करेगा।

खालिस्तानी आतंकी निज्जर मर्डर केस में कनाडा की भारत को गीदड़भभकी, जब तक मोदी सरकार...
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,ओटावाThu, 16 Nov 2023 11:12 PM
ऐप पर पढ़ें

India Canada Tension: भारत और कनाडा के बीच कई महीनों से रिश्ते खराब चल रहे हैं। कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत का हाथ बताया है, जिन आरोपों को भारत सरकार ने खारिज कर दिया है। अब कनाडा की ट्रेड मिनिस्टर मैरी एनजी ने गीदड़भभकी देते हुए कहा है कि जब तक मोदी सरकार पिछले जून में वैंकूवर में खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या की जांच में सहयोग नहीं करती, कनाडा भारत के साथ व्यापार वार्ता फिर से शुरू नहीं करेगा। मंत्री ने यह टिप्पणी अमेरिकी शहर सैन फ्रांसिस्को में एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग शिखर सम्मेलन के मौके पर की।

सीबीसी न्यूज के अनुसार, एक पत्रकार के इस सवाल का जवाब देते हुए कि क्या दोनों देश व्यापार वार्ता फिर से शुरू करेंगे, एनजी ने जवाब दिया, "अभी, कनाडा का ध्यान जांच के काम को आगे बढ़ने देने पर है।" उन्होंने आगे कहा, ''आपने मुझे और सरकार को इस बारे में बात करते हुए सुना है कि जांच होना कितना महत्वपूर्ण है, यह देखते हुए कि कनाडा की धरती पर एक कनाडाई को मार डाला गया था। मंत्री ने कहा कि व्यापार वार्ता में रुकावट के बावजूद, कनाडाई व्यापार समुदाय भारत में काम कर रहा है और वह यह सुनिश्चित करेंगी कि उन्हें आवश्यक समर्थन मिले। कनाडाई मंत्री ने कहा कि हमारा ध्यान निश्चित रूप से इस जांच पर है, यह काम होना ही है। 

जांच से इंकार नहीं कर रहे, लेकिन सबूत चाहिए: जयशंकर
वहीं, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत सरकार के एजेंटों की भूमिका के कनाडा के आरोपों पर जांच से भारत ने इनकार नहीं किया है लेकिन वह चाहता है कि कनाडा अपने आरोपों के संबंध में भारत को सबूत मुहैया कराए। जयशंकर ने वरिष्ठ पत्रकार लियोनेल बार्बर के साथ 'हाऊ ए बिलियन पीपुल सी द वर्ल्ड' शीर्षक वाले कार्यक्रम में बातचीत के दौरान यह टिप्पणी की। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा, ''अगर आपके पास इस प्रकार के आरोप लगाने के कारण हैं तो कृपया करके सबूत साझा कीजिए क्योंकि हम जांच से तो इनकार नहीं कर रहे... ।'' पांच दिन की ब्रिटेन यात्रा पर आए जयशंकर ने जोर देकर कहा कि कनाडा ने अपने आरोपों के पक्ष में भारत के साथ कोई सबूत साझा नहीं किए हैं। 

निज्जर की हत्या के पीछे भारतीय एजेंट, ट्रूडो का आरोप
कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने ब्रिटिश कोलंबिया में 18 जून को खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारतीय एजेंटों की 'संभावित' संलिप्तता के, सितंबर में आरोप लगाए थे जिसके बाद से भारत और कनाडा के संबंध बेहद तनावपूर्ण हो गए थे। भारत ने 2020 में निज्जर को आतंकवादी घोषित किया था। भारत ने ट्रूडो के आरोपों को बकवास तथा प्रेरित करार देते हुए खारिज कर दिया था। विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि अभिव्यक्ति तथा बोलने की स्वतंत्रता साथ में जिम्मेदारी भी लाती है और इन स्वतंत्रताओं का दुरुपयोग तथा राजनीतिक उद्देश्यों के लिए उस दुरुपयोग को बर्दाश्त करना बहुत गलत होगा। जयशंकर ने कहा कि वह इस मुद्दे पर अपने कनाडाई समकक्ष मेलानी जोली के संपर्क में हैं। उन्होंने कनाडा में भारतीय उच्चायोग पर हमले अथवा उच्चायोग और महावाणिज्य दूतावास पर हमलों को याद किया और कहा कि भारतीय राजनयिकों को सार्वजनिक रूप से धमकाया गया था और कनाडाई अधिकारियों ने दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें