ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशनेपाल के सत्तारूढ़ गठबंधन को 165 में से 90 सीटें मिलीं, शीर्ष नेताओं की सरकार गठन पर बातचीत

नेपाल के सत्तारूढ़ गठबंधन को 165 में से 90 सीटें मिलीं, शीर्ष नेताओं की सरकार गठन पर बातचीत

चुनाव में सीपीएन-माओइस्ट सेंटर को 18 सीट मिली हैं, जबकि सीपीएन-यूनिफाइड सोशलिस्ट को 10 सीट पर जीत हासिल हुई है। लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी को चार और राष्ट्रीय जनमोर्चा ने एक सीट पर जीत दर्ज की।

नेपाल के सत्तारूढ़ गठबंधन को 165 में से 90 सीटें मिलीं, शीर्ष नेताओं की सरकार गठन पर बातचीत
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,काठमांडूMon, 05 Dec 2022 09:36 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

नेपाल के पांच दलीय सत्तारूढ़ गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने सोमवार को यहां प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के आधिकारिक आवास पर बैठक की और आम चुनावों की समीक्षा करने के साथ नयी सरकार के गठन पर चर्चा की। बलूवातार स्थित प्रधानमंत्री आवास में हुई इस बैठक में नेपाली कांग्रेस के प्रमुख देउबा, वरिष्ठ नेता राम चंद्र पौडेल, उपाध्यक्ष पूर्ण बहादुर खड़का, सीपीएन (माओवादी केंद्र) के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल 'प्रचंड', वरिष्ठ उपाध्यक्ष नारायण काजी श्रेष्ठ, सीपीएन (यूनिफाइड सोशलिस्ट) के अध्यक्ष माधव नेपाल और राष्ट्रीय जनमोर्चा उपाध्यक्ष दुर्गा पौडेल शामिल हुए। पांच दलीय गठबंधन ने प्रत्यक्ष मतदान प्रणाली (एफपीटीपी) के तहत प्रतिनिधि सभा की 165 सीट में से 90 सीटों पर जीत दर्ज की है। 

संयुक्त बैठक में सत्तारूढ़ गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने यह राय व्यक्त की कि चुनाव परिणामों ने गठबंधन की जरूरत एवं प्रासंगिकता की पुन: पुष्टि की है। बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में गठबंधन के नेताओं ने कहा कि परिणामों ने आपसी सहमति तथा सहयोग के साथ आगे बढ़ने की जरूरत को रेखांकित किया है। बयान में कहा गया, ''यह जरूरी है कि देश के सामने चुनौतियों का सामना करने के लिए मौजूदा गठबंधन जारी रहे।'' हाल के चुनाव के बाद सत्तारूढ़ गठबंधन की यह पहली संयुक्त बैठक है। नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री प्रकाश मान सिंह ने 'पीटीआई-भाषा' से कहा कि बैठक में मुख्य रूप से सत्ता साझेदारी और सरकार गठन से जुड़े विषयों पर चर्चा हुई। नेपाल के संसदीय चुनाव में प्रधानमंत्री देउबा की नेपाली कांग्रेस 57 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है और उसके सरकार बनाने की संभावना प्रबल हो गयी है। संसदीय चुनाव के लिए प्रत्यक्ष मतदान के तहत मतगणना सोमवार को यहां समाप्त हो गयी। 
प्रत्यक्ष चुनाव में सीपीएन-माओइस्ट सेंटर को 18 सीट मिली हैं, जबकि सीपीएन-यूनिफाइड सोशलिस्ट को 10 सीट पर जीत हासिल हुई है। लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी को चार और राष्ट्रीय जनमोर्चा ने एक सीट पर जीत प्राप्त की है। नेपाल में राजनीतिक अस्थिरता को समाप्त करने के लिए प्रतिनिधि सभा और सात प्रांतीय विधानसभाओं के लिए चुनाव 20 नवंबर को हुए और मतगणना एक दिन बाद शुरू हुई। नेपाल की 275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में 165 सदस्य प्रत्यक्ष मतदान के माध्यम से चुने जाएंगे, जबकि शेष 110 आनुपातिक चुनाव प्रणाली के माध्यम से निर्वाचित होंगे। किसी पार्टी या गठबंधन को स्पष्ट बहुमत के लिए 138 सीटों की जरूरत है। नेपाल के निर्वाचन आयोग के अनुसार विपक्षी सीपीएन-यूएमएल को अब तक 44 सीट पर जीत मिली है। 

इसी तरह राष्ट्रीय स्वतंत्रता पार्टी, राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी और जनता समाजवादी पार्टी ने सात-सात सीटें जीती हैं। लोकतांत्रिक समाजवादी पार्टी और नागरिक उन्मुक्ति पार्टी को क्रमश: चार और तीन सीटों पर विजय प्राप्त हुई है। नेपाली वर्कर्स और पीजेंट्स पार्टी तथा जनमत पार्टी एक-एक सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी हैं। पांच सीटें निर्दलीय उम्मीदवारों को प्राप्त हुई हैं। एक अधिकारी ने कहा कि अनुपातिक मतदान प्रणाली के तहत दो सीटों पर मतगणना अभी चल रही है। नेपाली कांग्रेस प्रतिनिधि सभा में 89 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है, वहीं सीपीएन-यूएमएल को 77 सीटों पर जीत मिली है। तीसरे स्थान पर सीपीएन-माओइस्ट सेंटर है जिसे 32 सीटों से संतोष करना पड़ा, वहीं आरएसपी 21 सीटों के साथ चौथे स्थान पर रह सकती है।