ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशNepal Earthquake: नेपाल में भूकंप से बर्बादी, 157 लोगों की मौत; 4300 घरों में तबाही का मंजर

Nepal Earthquake: नेपाल में भूकंप से बर्बादी, 157 लोगों की मौत; 4300 घरों में तबाही का मंजर

Nepal earthquake Latest Updates: भूकंप के झटके आधी रात को उस समय महसूस किए गए जब लोग गहरी नींद में थे। अचानक थर्राई धरती से एकदम दहशत फैल गई। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागे।

Nepal Earthquake: नेपाल में भूकंप से बर्बादी, 157 लोगों की मौत; 4300 घरों में तबाही का मंजर
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,काठमांडू।Sun, 05 Nov 2023 06:37 AM
ऐप पर पढ़ें

Nepal Earthquake Updates: नेपाल में शुक्रवार देर रात आए भूकंप ने यहां भारी तबाही मचाई। आपदा में 157 लोगों की मौत हो गई और 200 से ज्यादा घायल हैं। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 6.4 मापी गई। आपदा से भारी नुकसान भी हुआ है। अभी भी कई लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है। मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है।

भूकंप के झटके आधी रात को उस समय महसूस किए गए जब लोग गहरी नींद में थे। अचानक थर्राई धरती से एकदम दहशत फैल गई। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागे। हालांकि कुछ लोगों को संभलने का मौका तक नहीं मिला। आपदा में सैंकड़ों मकानों को नुकसान पहुंचा है। राष्ट्रीय भूकंप निगरानी एवं अनुसंधान केंद्र के अनुसार, भूकंप आधी रात 11 बजकर 47 मिनट पर आया, जिसका केंद्र जाजरकोट जिले में था।

नेपाल सेना के प्रवक्ता कृष्ण प्रसाद भंडारी के अनुसार, नेपाल सेना ने भूकंप के तुरंत बाद घटना स्थल पर बचाव कार्य करने के लिए रात को ही अपने कर्मियों को तैनात किया।

मिली जानकारी के अनुसार, भूकंप से पश्चिमी नेपाल के जाजरकोट और रुकुम जिले सबसे अधिक प्रभावित हुए। अधिकारियों ने बताया कि भूकंप में मारे गए लोगों में जाजरकोट में नलगढ़ नगर पालिका की उप महापौर सरिता सिंह भी शामिल हैं। यहां बड़े स्तर पर राहत बचाव कार्य चलाए जा रहे हैं। ज्ञात रहे कि इससे पहले भी नेपाल में आए भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी।
शनिवार को भी दर्ज किए गए भूकंप के झटके

शनिवार को नेपाल में 4.2 तीव्रता का झटका दर्ज किया गया, दोपहर 3:40 बजे जजरकोट जिले में यह झटका दर्ज किया गया। राष्ट्रीय भूकंप निगरानी केंद्र के अनुसार, इसका केंद्र रामिदंडा था।
4300 घर पूरी तरह तबाह

गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा है कि जाजरकोट में अब तक 1,800 घर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं जबकि रुकुम पश्चिम में 2,500 घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। भेरी नगर पालिका के मेयर चंद्र प्रकाश खत्री ने एक निजी टेलीविजन चैनल को बताया, हमने सफलतापूर्वक बचाव कार्य किया है और अब हमें तुरंत टेंट, कंबल और खाद्य सामग्री की जरूरत है। जजरकोट के बरेकोट ग्रामीण नगर पालिका के अध्यक्ष ने कहा, उनकी नगर पालिका में 80 प्रतिशत घर गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं और उन्हें पुनर्निर्माण की जरूरत है।लोग बिना किसी आश्रय के खुले स्थानों और खेतों में रह रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें