ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशGDP चढ़ ना रही, घर बन ना रहे फिर कर क्या रहे हैं ट्रूडो? कनाडा में दोगुनी हुई बेघरों की तादाद; देखें- डेटा 

GDP चढ़ ना रही, घर बन ना रहे फिर कर क्या रहे हैं ट्रूडो? कनाडा में दोगुनी हुई बेघरों की तादाद; देखें- डेटा 

कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की सरकार खालिस्तानियों पर मेहरबान है। पिछले महीने उन्होंने खालिस्तानी आतंकियों को खुश करने के लिए आरोप लगाया था कि आतंकी हरदीप निज्जर की हत्या में भारत की संलिप्तता ह

GDP चढ़ ना रही, घर बन ना रहे फिर कर क्या रहे हैं ट्रूडो? कनाडा में दोगुनी हुई बेघरों की तादाद; देखें- डेटा 
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 06 Oct 2023 05:20 PM
ऐप पर पढ़ें

Cnadaian PM Justin Trudeau: जस्टिन ट्रूडो के देश कनाडा में बेघरों की तादाद दोगुनी हो गई है। कैनेडियन सेंटर फॉर पॉलिसी अल्टरनेटिव की एक हालिया रिपोर्ट से पता चलता है कि नए घरों के निर्माण का आंकड़ा कोविड-19 महामारी के दौर से भी नीचे चली गया है। बुधवार (4 अक्टूबर) को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि आवास क्षेत्रों में निवेश कोविड महामारी में लॉकडाउन यानी अप्रैल 2020 के स्तर से भी नीचे गिरकर चली गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सिंगल परिवार वाले घरों में निवेश में 21 फीसदी गिरा है, जबकि नए घरों के निर्माण की दर आठ फीसदी गिरी है। 

रिपोर्ट इस बात पर प्रकाश डालती है कि फरवरी 2022 की तुलना में आज कनाडा की स्थिति काफी अधिक "गंभीर" हो गई है। फरवरी 2022 में कनाडाई बैंकों ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी की थी। रिपोर्ट बताती है कि 2022 की पहली तिमाही की तुलना में,नए घर के निर्माण में  17 प्रतिशत की गिरावट आई है। घरों के रिनोवेशन में 21 फीसदी और स्वामित्व हस्तांतरण में 28 फीसदी की गिरावट आई है।

कनाडा में ठहर गई GDP, छा रही मंदी 
दूसरी ओर, रिपोर्ट में कहा गया कि जनवरी से जुलाई 2023 के बीच वास्तविक जीडीपी बिल्कुल भी नहीं बढ़ पाई है, जिसका असर आवासीय निवेश पर पड़ा है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कनाडा का सकल घरेलू उत्पाद (GDP)  चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में घट गया है और जुलाई से अगस्त के आंकड़ों से पता चलता है कि जीडीपी ठहर गई है। रिपोर्ट के लेखक डेविड मैक्डोनाल्ड ने भविष्यवाणी की है कि कनाडा में स्थिति और खराब होने वाली है। एक्सपर्ट के मुताबिक कनाडा में धीरे-धीरे मंदी छा रही है।

बेफिक्र ट्रूडो के शासन में दोगुने हुए बेघर
कनाडाई मीडिया में इस पर पहले से ही चिंता जताई जाती रही है लेकिन ट्रूडो सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया और स्थिति अब भयावह हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कनाडा में घर न होना एक ऐसी समस्या है जिससे बड़ी आबाजी जूझ रही है।  कनाडा में बेघर लोगों की अनुमानित संख्या 150,000 से  दोगुनी होकर 300,000 हो चुकी है और यह लगातार बढ़ती जा रही है।

कनाडा में सबसे अधिक बेघर कहां?
जैसा कि अक्सर होता है, सबसे बड़े शहरों में बेघर लोगों की संख्या सबसे अधिक होती है। यही बात कनाडा पर भी लागू होती है, जहां लगभग 10,000 बेघर लोगों के साथ टोरंटो टॉप पर है। 2020 में, ग्रेटर विक्टोरिया क्षेत्र में पॉइंट-इन-टाइम (PiT) गिनती के दौरान कम से कम 1,523 लोग बेघर दर्ज किए गए थे। कनाडा में सबसे ज्यादा बेघरों की उम्र सीमा 25 से 49 वर्ष के बीच है।  बेघरों का 52 फीसदी इसी आयु वर्ग से आते हैं। कनाडा में 4% से भी कम बेघर लोग 65 वर्ष या उससे अधिक उम्र के हैं।

बेघरों से जुड़े अन्य आंकड़े
रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कनाडा की सड़कों पर किसी भी रात 25,000 से 35,000 तक लोग बेघर पाए जाते हैं। राजधानी टोरंटो में बेघर लोगों की संख्या सबसे अधिक है। पूरे देश में बेघर लोगों में 62% पुरुष हैं। कनाडा के कुल बेघरों का 30% बेघर आबादी कनाडाई मूल के ही हैं। 90% बेघर आश्रय स्थल ओंटारियो, ब्रिटिश कोलंबिया, क्यूबेक और अल्बर्टा शहर में हैं और उनमें से 44% सिर्फ ओंटारियो में हैं। बेघरों में 20 फीसदी 13-24 वर्ष के लोग हैं। हैरत की बात ये है कि इनमें से कई लोग परमानेंट जॉब वाले भी हैं, जिनके पास स्थाई आवास नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें