ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशहम लोकतंत्र के समर्थक... ताइवान में नैन्सी पेलोसी की पहली प्रतिक्रिया; भड़का चीन

हम लोकतंत्र के समर्थक... ताइवान में नैन्सी पेलोसी की पहली प्रतिक्रिया; भड़का चीन

अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी चीन के कड़े विरोध के बीच ताइवान पहुंच चुकी हैं। उनकी पहली प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होने ट्वीट किया, हम ताइवान में लोकतंत्र के समर्थक हैं।

हम लोकतंत्र के समर्थक... ताइवान में नैन्सी पेलोसी की पहली प्रतिक्रिया; भड़का चीन
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 02 Aug 2022 08:57 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

अमेरिकी सीनेटर नैन्सी पेलोसी चीन के कड़े विरोध के बीच ताइवान पहुंच चुकी हैं। उनकी पहली प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होने ट्वीट किया, हम ताइवान में लोकतंत्र के समर्थक हैं। मेरी ताइवान यात्रा अमेरिकी नियमों का उल्लंघन नहीं है। उधर, पेलोसी के पहुंचने पर ताइवान में लेवल दो का अलर्ट जारी किया है। चीन में सिविल डिफेंस सायरन बज रहे हैं।  चीनी विदेश मंत्रालय ने पेलोसी के दौरे पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कहा कि अमेरिका ने वादा और विश्वास तोड़ा है।

ताइवान को लेकर अमेरिका चीन के साथ दो-दो हाथ करने को तैयार है। हालांकि नैन्सी पेलोसी के दौरे को खुद का फैसला बताकर अमेरिका ने अपना बचाव किया लेकिन, चीन अमेरिकी सीनेटर के ताइवान दौरे को खुद के लिए चुनौती के रूप में देख रहा है। प्रस्तावित दौरे से इतर नैन्सी पेलोसी का ताइवान पहुंचना चीन को खटक रहा है। चीन ने सख्त संदेश देते हुए अमेरिका को चुनौती दी कि वो खतरनाक जुआ खेल रहा है।

पेलोसी के ताइवान पहुंचने के कुछ देर बाद ही चीन के विदेश मंत्रालय की ओर से बयान जारी किया गया। कहा कि अमेरिका ने विश्वास और वादा तोड़ा है। अमेरिका अब परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। अमेरिका खतनाक जुआ खेल रहा है।

पेलोसी की पहली प्रतिक्रिया
पेलोसी ने ताइवान पहुंचने के बाद सिलसिलेवार ट्वीट किए। लिखा, " हमारे प्रतिनिधिमंडल की ताइवान यात्रा ताइवान के जीवंत लोकतंत्र का समर्थन करने के लिए अमेरिका की अटूट प्रतिबद्धता का सम्मान करती है। ताइवान के नेतृत्व के साथ हमारी चर्चा हमारे साझेदार के लिए हमारे समर्थन की पुष्टि करती है और एक स्वतंत्र और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र को आगे बढ़ाने सहित हमारे साझा हितों को बढ़ावा देती है।" वो आगे लिखती हैं, "हमारी यात्रा ताइवान के प्रतिनिधिमंडलों में से एक है - और यह किसी भी तरह से संयुक्त राज्य अमेरिका की नीति का खंडन नहीं करता है, जो 1979 के ताइवान संबंध अधिनियम, यू.एस.-चीन संयुक्त विज्ञप्ति और छह आश्वासनों पर आधारित है।"

1996 के बाद ताइवान में लेवल 2 का अलर्ट जारी
उधर, पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद ताइवान में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। बता दें कि ताइवान में लेवल 2 का अलर्ट जारी किया गया है। साल 1996 के बाद यह पहला मौका है जब ताइवान में इतने बड़े लेवल पर सुरक्षा अलर्ट किया गया है। उधर, चीन में सिविल  डिफेंस साइरन बज रहे हैं। 

epaper