DA Image
1 अप्रैल, 2021|8:31|IST

अगली स्टोरी

म्यांमार में सैन्य तानाशाही का अत्याचार: तख्तापलट का विरोध कर रहे लोगों पर चलाईं गोलियां, दो की मौत-कई घायल

myanmar

म्यांमार में शनिवार को पुलिस ने तख्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बल का प्रयोग किया। सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों पर रबर की गोलियां चलाईं, आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछार की, जिससे कई प्रदर्शनकारी घायल हुए। स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मांडले में पुलिस ने गोलियां चलाईं, जिसमें दो प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई।

फ्रंटियर म्यांमार की रिपोर्ट के मुताबिक, एक प्रदर्शनकारी के सिर में गोली लगी और मौके पर ही उसकी मौत हो गई जबकि एक व्यक्ति के सीने में गोली लगी और अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में उसने दम तोड़ दिया। पुलिस द्वारा गोली चलाने की घटना यदानाबोन बंदरगाह के पास हुई, जहां दिन में भी सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों पर रबर की गोलियां चलाईं, आंसू गैस के गोले दागे और पानी की बौछार की थी।

रबर की गोली से कम से कम पांच लोगों के घायल होने की खबर है, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया। यदानाबोन बंदरगाह के कर्मचारी भी तख्तापलट का विरोध करने वालों के साथ शामिल हो गए, जिन्हें दबाने के लिए करीब 500 पुलिसकर्मियों एवं सैनिकों को तैनात किया गया था। बंदरगाह कर्मचारियों ने चुनी हुई सरकार के हाथों में सत्ता सौंपे जाने तक काम का बहिष्कार करने का ऐलान किया।

हिंसा के बीच प्रदर्शनकारी और निवासी आसपास के इलाके में भागने को मजबूर हुए। इससे पहले, म्यांमार में तख्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने एक रैली के दौरान पुलिस की गोली से मारी गई एक महिला को शनिवार को श्रद्धांजलि दी।

यांगून में लगभग एक हजार प्रदर्शनकारी जुटे और एक सड़क पर अस्थायी स्मारक बनाकर म्या थ्वेट खाइन की तस्वीर के पास एक पुष्प चक्र रखा। प्रदर्शनकारियों ने अस्थायी स्मारक पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए ''म्यांमार में तानाशाही खत्म करो और ''म्या थ्वेट खाइन आप हमेशा याद रहेंगी जैसे नारे लगाए। यांगून के अलावा मांडले शहर में भी प्रदर्शनकारियों ने खाइन को श्रद्धांजलि दी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Myanmar police open fire on protesters in deadliest day since coup