ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशमासूम बच्चों को बचाने कुत्तों से भिड़ गई मां, नोंच-नोंचकर खा गए; मदर्स डे से पहले घटी वारदात

मासूम बच्चों को बचाने कुत्तों से भिड़ गई मां, नोंच-नोंचकर खा गए; मदर्स डे से पहले घटी वारदात

मदर्स डे से कुछ ही दिन पहले अमेरिका के जॉर्जिया के क्विटमैन में एक भयानक घटना सामने आई है। अपने तीन मासूम बच्चों को बचाने के लिए एक मां कुत्तों के झुंड से भिड़ गई। हालांकि कुत्तों ने उसकी जान ले ली।

मासूम बच्चों को बचाने कुत्तों से भिड़ गई मां, नोंच-नोंचकर खा गए; मदर्स डे से पहले घटी वारदात
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 13 May 2024 11:57 AM
ऐप पर पढ़ें

मदर्स डे से कुछ ही दिन पहले अमेरिका के जॉर्जिया के क्विटमैन में एक भयानक घटना सामने आई है। यहां अपने तीन मासूम बच्चों को बचाने के लिए महिला कुत्तों के झुंड से भिड़ गई। इस दौरान कुत्तों ने महिला को बुरी तरह नोंच डाला। महिला की मौके पर ही तड़प-तड़पकर मौत हो गई। घटना ब्रूक्स काउंटी मिडिल स्कूल के पीछे की बताई जा रही है, जहां महिला अपने तीन बच्चों के साथ बस स्टॉप पर गाड़ी का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान कुत्तों का एक झुंड वहां आ धमका। 

ब्रूक्स काउंटी के प्रतिनिधियों ने बताया कि घटना मदर्स डे से तीन दिन पहले शाम लगभग 4:45 बजे घटी। जॉर्जिया ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के अनुसार, बीते कुछ दिनों से इलाके में कुत्तों के हमलों की घटना में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। हालांकि इस भयावह घटना से हर कोई स्तब्ध है।

जीबीआई ने एक समाचार विज्ञप्ति में कहा, "जब प्रतिनिधि पहुंचे, तो उन्होंने पाया कि आवारा कुत्तों के झुंड ने महिला के शरीर को क्षत-विक्षत कर दिया है। साथ ही इलाके में संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया है। 35 वर्षीय महिला कर्टनी विलियम्स का शव बरामद कर लिया गया है।

मरते-मरते बच्चों की जान बचाई
एक फेसबुक पोस्ट में, विलियम्स की भाभी ने भावुक पोस्ट लिखी है। उन्होंने बताया कि बीते गुरुवार की शाम को दर्दनाक घटना में उन्होंने अपनी ननद को हमेशा के लिए खो दिया। बताया कि वह अपने तीन बच्चों के साथ बस का इंतजार कर रही थी। तभी पड़ोसी के कुत्तों ने हमला किया। विलियम्स ने देखा कि कुत्ते उसके बच्चों की तरफ बढ़ रहे हैं तो उसने उन्हें हटने के लिए और भाग जाने के लिए कहा। इतना कहकर वह कुत्तों से भिड़ गई। इस दौरान महिला के दो बेटों में से बड़े ने अपनी छोटी बहन को बचाने का भी प्रयास किया। वे मां की मदद के लिए भागे। जब तक वे मदद लेकर पहुंचे, महिला की मौत हो चुकी थी।

महिला ने बताया कि उसकी ननद के बच्चे ठीक हैं लेकिन, वे मनोवैज्ञानिक तौर पर काफी टूट गए हैं।  मदद के लिए पहुंचे उस आदमी ने बच्चों को अपने ट्रक में बैठाकर अस्पताल पहुंचाया।" उधर, जीबीआई ने कहा कि शव के पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि मामले में पुलिस क्या ऐक्शन लेगी? लेकिन मामले की जांच शुरू कर दी गई है।