ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशमासूम बच्ची को दूध की बोतल में कोल्ड ड्रिंक पिलाकर मौत की नींद सुलाया, कातिल मां का खौफनाक कांड

मासूम बच्ची को दूध की बोतल में कोल्ड ड्रिंक पिलाकर मौत की नींद सुलाया, कातिल मां का खौफनाक कांड

चार साल की मासूम बच्ची को दूध की बोतल में कोल्ड ड्रिंक पिला-पिलाकर उसके मां-बाप ने मौत की नींद सुला दिया। कोर्ट ने मां को सजा सुना दी है, जबकि पिता पर 11 जून को फैसला आ सकता है।

मासूम बच्ची को दूध की बोतल में कोल्ड ड्रिंक पिलाकर मौत की नींद सुलाया, कातिल मां का खौफनाक कांड
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 26 May 2024 12:12 PM
ऐप पर पढ़ें

बच्चों के लिए मां-पिता उसे महफूज रखने वाले सबसे पहले दो इंसान होते हैं, जिन पर वह सबसे ज्यादा भरोसा कर सकता है या कर सकती है लेकिन, अगर पैदा करने वाले ही जान लेने वाले बन जाएं तो...! अमेरिका के ओहियो सिटी में ऐसा ही खौफनाक कांड सामने आया है। चार साल की मासूम बच्ची को दूध की बोतल में कोल्ड ड्रिंक पिला-पिलाकर उसके मां-बाप ने मौत की नींद सुला दिया। कोर्ट ने बेटी की हत्या के जुर्म में उसकी मां को 14 साल जेल की सुनाई है जबकि, उसके पिता पर फैसला 11 जून को आने वाला है। वह भी गैर इरादतन हत्या में दोषी करार हो चुका है। 

मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, 41 साल की तमारा बैंक्स को अपनी मासूम बेटी की गैर इरादतन हत्या के लिए नौ से 14 साल की जेल की सजा सुनाई गई है। क्लेरमोंट काउंटी के अभियोजकों ने कहा कि घटना 2022 की है, जब बच्ची के मां-बाप की वजह बच्ची कुपोषण और उचित चिकित्सा देखभाल न मिल पाने के कारण मर गई। चार साल की मासूम बच्ची कारमीटी डायबिटीज से भी पीड़ित थी। जांच में डॉक्टरों ने पाया कि अधिक मात्रा में कोल्ड ड्रिंक शरीर में चले जाने से उसका शुगर लेवल काफी बढ़ गया और उसकी मौत हो गई। 

लड़की की मां तमारा और पिता 53 वर्षीय क्रिस्टोफर होएब को 2023 में हत्या, गैर इरादतन हत्या और बच्चों के जीवन को खतरे में डालने के आरोप में दोषी ठहराया गया था। होएब ने भी अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है और उसे 11 जून को सजा सुनाई जाएगी।

बच्ची की मौत कैसे हुई
अभियोजन पक्ष के अनुसार, बच्ची की मौत 21 जनवरी 2022 को हुई थी। उसके माता-पिता ने बच्ची की तबीयत बिगड़ने के बाद 911 पर कॉल किया था और उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया और लाइफ सपोर्ट हटा दिया गया। अभियोजन पक्ष के मुताबिक, बच्ची को मधुमेह था, जिसका उसके मां-पिता द्वारा सही से इलाज नहीं कराया गया। अभियोजकों ने कहा कि बच्ची की मौत उसके माता-पिता की उपेक्षा और दुर्व्यवहार के चलते परिणाम के रूप में हुई।

डब्ल्यूसीपीओ सिनसिनाटी की रिपोर्ट के अनुसार, अभियोजकों ने कहा कि बैंक्स और होएब ने अपनी बेटी को दूध की बोतल में माउंटेन ड्यू पिलाया। उन्होंने बताया कि बच्ची की मौत के समय उसके मुंह में दांत तक नहीं बचे थे, जो थे वे सड़ चुके थे।