DA Image
27 फरवरी, 2021|9:56|IST

अगली स्टोरी

मोदी-शी बैठक: संरक्षणवाद पर सकारात्मक चीजें सुनने को मिलेंगी- चीन

मोदी-शी

चीन ने कहा कि पीएम मोदी और राष्ट्रपति शी जिनपिंग इस सप्ताह वुहान में होने वाले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में वैश्वीकरण और बढ़ते संरक्षणवाद को लेकर जोखिम पर चर्चा करेंगे। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने घोषणा की कि मोदी और शी द्विपक्षीय रिश्तों को बेहतर बनाने के लिये 27-28 अप्रैल के चीन के मध्य में स्थित वुहान में मिलेंगे। 
      
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने यहां कहा कि वुहान में दोनों नेता महत्वपूर्ण रणनीतिक मुद्दों के साथ दुनिया में हो रहे ताजा घटनाक्रम पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा, ''....आपको यह अंदाजा होगा कि यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब दुनिया में वैश्वीकरण की प्रक्रिया में मनमानी बढ़ने के साथ संरक्षणवाद जोर पकड़ रहा है। लू ने कहा कि दोनों नेताओं की बैठक में इन सभी नई प्रवृत्ति पर चर्चा होगी। स्पष्ट रूप से उनका इशारा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की अमेरिका फर्स्ट नीति की ओर था। इसके तहत कई संरक्षणवादी उपाय किए गए जिसको लेकर चीन और अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध चल रहा है। 

वुहान सम्मेलन से पहले शी से मुलाकात की सुषमा ने
 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की। शी ने कहा कि चीन अपनी कूटनीतिक प्राथमिकता के तौर पर शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के विकास को मजबूत किये जाने का सम्मान करता है। सुषमा ने एससीओ के बाकी सात सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के साथ राष्ट्रपति शी से मुलाकात की। 

सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार शी ने कहा कि वह जून में शानदोंग प्रांत के तटीय शहर किंगदाओ में होने वाली एससीओ की शिखर वार्ता की सफलता के प्रति आशान्वित हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किंगदाओ सम्मेलन में भाग ले सकते हैं। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Modi and Xi to discuss inclusive globalisation stable development China