अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेरेना पर छपे कार्टून को नस्लभेदी बता सोशल मीडिया पर भड़कीं कई हस्तियां

serena williams cartoon

यूएस ओपन के फाइनल में सेरेना विलियम्स और चेयर अंपायर के बीच हुई झड़प पर ऑस्ट्रेलिया के अखबार ‘हेराल्ड सन’ में छपा कार्टून चर्चा में है। कार्टूनिस्ट मार्क नाइट को सोशल मीडिया पर उनकी इस कृति के लिए नस्लभेदी और लिंगभेदी जैसे आरोपों का सामना करना पड़ रहा है। तमाम हस्तियों ने इस कार्टून को भद्दा, लिंगभेदी और नस्लीय करार देते हुए तीखी प्रतिक्रियाएं की हैं। 

मशहूर ब्रिटिश लेखक जेके रॉलिंग ने इस कार्टून पर पोस्ट किया, ‘ मार्क शुभकामनाएं, एक सफल खिलाड़ी को इतना भद्दा दिखाने के लिए। उसे नस्लीय और लिंगभेद का शिकार बनाने के लिए। साथ ही दूसरी महिला खिलाड़ी (नाओमी ओसाका) के चहरे को कमतर दिखाने के लिए। 

इसके अतिरिक्त टेनिस खिलाड़ी बिली जींस ने भी इस कार्टून को नस्लीय टिप्पणी करने वाला बताया। मार्टिन लूथर किंग जूनियर की बेटी बेर्निस किंग ने कार्टून छापने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि यह अतीत से होते आ हरे नस्लभेदी हमलों जैसा ही है। 

सरकार की मिलीभगत से भागा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी : कांग्रेस

मासाबा गुप्ता ने इस कार्टून को समाज की वास्तविक तस्वीर बताते हुए इसका विरोध जताया। उन्होंने कहा कि यह ना सिर्फ मार्क नाइट बल्कि समाज की समझ को बयान करती है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि यह समाज हमेशा से महिलाओं से सिर्फ कोमल दिखने की उम्मीद करता है। अपने हक के लिए आवाज उठाती महिला अपने बल का प्रदर्शन करती महिला को समाज कभी स्वीकार नहीं करता। उसे हमेशा गलत बताया जाता है। जैसा कि भद्दा इस कार्टून में मार्क ने सेरेना को दिखाया है। 

कार्टून में सेरेना का ऐसा रूप दिखाया 

मार्क ने अपने कार्टून में सेरेना को भीमकाय काया वाली एक मोटी और भद्दी दिखने वाली महिला के रूप में दिखाया है। उन्होंने कोर्ट में रैकट पटका हुआ है जो टूट चुका है, इसके पास ही बच्चों को शहद चटाने वाली निपल दिख रही है। वहीं पीछे मोआमी ओसाका को बेहद दुर्बल रूप में दिखाया है। उनका चेहरा भी साफ नहीं दिख रहा है। अंपायर को कहता दिखाया है कि ‘क्या आप ऐसे ही इन्हें जीतने देंगी।’

मेरा कार्टून नस्लभेदी नहीं: मार्क नाइट 

कार्टून पर आ रहीं टिप्पणियों के बीच मार्क नाइट ने कहा कि उनका कार्टून नस्लभेदी नहीं है। इसमें बस एक महान टेनिस खिलाड़ी द्वारा एक प्रतिष्ठित मुकाबले में दिखाए गए गलत बर्ताव को दर्शाया गया है। सेरेना के क्रोध को दिखाने की कोशिश की गई है। इसे नस्लभेदी और लिंगभेदी कहने वालों की सोच संकीर्ण है इसका कुछ नहीं किया जा सकता। 

इन हस्तियों ने भी झेले नस्लभेदी हमले

मिशेल ओबामा: अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा ने एक व्हाइट हाउस के एक आयोजन में स्वीकार किया था कि देश की प्रथम महिला होने के बावजूद उन्हें कई बार नस्लभेदी हमलों का सामना करना पड़ा। मिशेल ने बताया कि कैसे उन्हें वेस्ट वर्जीनिया के अधिकारियों ने ‘हील पहने बंदरिया’ कहा या वाशिंगटन मेयर ने उन्हें ‘गोरिला जैसे चेहरे’ वाला बताया। उन्हें कई बार नस्लभेदी टिप्पणियों का शिकार होना पड़ा। 

नाओमी कैंपबेल : ब्रिटिश मॉडल, अभिनेत्री और गायम नाओमी कैंपबेल का नस्लभेदी टिप्पणियों से पूराना नाता रहा है। एक चॉकलेट के विज्ञापन में नाओमी की चॉकलेट के साथ तुलना की गई थी। यह मामला चर्चा में रहा और विवाद के बाद अंत में चॉकलेट कंपनी ने नाओमी से माफी मांगी थी। इसके अलावा नाओमी कई बार नस्लभेदी टिप्पणी को लेकर चर्चा में रहीं।

Apple iPhone XS की कीमत आई सामने, आज होने वाला है लॉन्च

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Many celebrities on social media thrashing cartoon printed on Serena blaming it racist