DA Image
हिंदी न्यूज़ › विदेश › 'मेकिंग द तालिबान ग्रेट अगेन': पोस्टर में रॉकेट लॉन्चर लिए तालिबानी आतंकी बने दिखे जो बाइडेन, जानें पूरा मामला
विदेश

'मेकिंग द तालिबान ग्रेट अगेन': पोस्टर में रॉकेट लॉन्चर लिए तालिबानी आतंकी बने दिखे जो बाइडेन, जानें पूरा मामला

हिन्दुस्तान टीम,वाशिंगटनPublished By: Shankar Pandit
Fri, 17 Sep 2021 09:21 AM
'मेकिंग द तालिबान ग्रेट अगेन': पोस्टर में रॉकेट लॉन्चर लिए तालिबानी आतंकी बने दिखे जो बाइडेन, जानें पूरा मामला

अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की पूर्ण वापसी के बाद से जो बाइडेन की साख पर बट्टा लगता दिख रहा है। अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी और तालिबान राज के बाद से लगातार जो बाइडेन को अलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। खुद अमेरिकी भी उन्हें अफगान संकट के लिए जिम्मेदार मान रहे हैं। यही वजह है कि अमेरिका में उनके खिलाफ जगह-जगह पोस्टर (बिलबोर्ड) लगाए गए हैं और उन्हें तालिबानी आतंकी के रूप में चित्रित किया गया है। पेंसिल्वेनिया में जो बाइडेन के खिलाफ कई पोस्टर्स लगे हैं, जिनमें उन्हें तालिबानी आतंकी के रूप में दिखाया गया है और इस पर एक स्लोगन भी लिखा है- 'मेकिंग द तालिबान ग्रेट अगेन'।

रिपोर्ट्स की मानें तो बाइडेन को आतंकी के तौर पर दिखाने वाले बिलबोर्ड विज्ञापनों को पेंसिल्वेनिया के पूर्व सीनेटर स्कॉट वैगनर ने लगवाया है,  जिन्होंने लगभग 15,000 डॉलर की लागत से राजमार्गों पर एक दर्जन से अधिक बिलबोर्ड किराए पर लिए हैं और बाइडेन को तालिबान आतंकी दिखाने वाले इन बिलबोर्ड्स (होर्डिंग्स) लगवाए हैं। यह पोस्टर अफगानिस्तान की स्थिति पर जो बाइडेन के फैसले के खिलाफ अमेरिकियों के गुस्से को दर्शाता है। उनका कहना है कि बाइडेन के एक फैसले की वजह से पूरी दुनिया के सामने अमेरिका को शर्मिंदगी उठानी पड़ी और उसका मजाक उड़ा। 

पूर्व सीनेटर स्कॉट वैगनर ने द यॉर्क डेली रिकॉर्ड को बताया कि आखिर आप उन लोगों को क्या कहेंगे जिन्होंने अफगानिस्तान में लड़ाई लड़ी। यह वियतनाम से भी बदतर स्थिति है। द यॉर्क डेली रिकॉर्ड की रिपोर्ट है कि पूर्व सीनेटर ने कई दिग्गजों से मुलाकात की, जिन्होंने सालों तक अफगानिस्तान में अपने सबसे लंबे युद्ध में संयुक्त राज्य की सेवा की। वैगनर ने कहा कि इनमें से कई सैनिकों ने अपने पूरे शरीर- अंगों और मानस - को बलिदान कर दिया। 

दरअसल, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनावी अभियान के प्रचलित स्लोगन- 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन', की तर्ज पर ही होर्डिंग में 'मेकिंग तालिबान ग्रेट अगेन' लिखा गया है। बिलबोर्ड पर लगी तस्वीर में जो बाइडेन तालिबानी गेटअप में हैं और उनके हाथ में रॉकेट लांचर है। स्कॉट वैगनर ने इस बिलबोर्ड से यह दिखाने की कोशिश की है कि अफगानिस्तान से सेना वापस बुलाकर राष्ट्रपति ने तालिबान की मदद की है। बिलबोर्ड पर ‘मेकिंग द तालिबान ग्रेट अगेन’ यानी तालिबान को फिर से महान बनाना भी लिखा हुआ है।

हालांकि, पूर्व सीनेटर ने दावा किया है कि वह ट्रंप सपोर्टर नहीं हैं। उनका कहना है कि अगर डोनाल्ड ट्रंप ने भी ऐसा किया होता, तो वह इसी तरह से उनकी भी होर्डिंग लगाते। बता दें कि 31 अगस्त को डेडलाइन के मुताबिक, अमेरिका ने अपने सभी सैनिकों को वापस बुला लिया था। जो बाइडेन पर डेडलाइन को बढ़ाने का भी दबाव बनाया गया था, मगर उन्होंने किसी की नहीं सुनी और समयसीमा पर कायम रहे। 15 अगस्त को काबुल पर कब्जे का साथ ही अफगानिस्तान पर तालिबान का राज हो गया था। 

संबंधित खबरें