DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विदेश  ›  जिंदगी-मौत से जूझ रहे हैं उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन? साउथ कोरिया कर रहा पड़ताल
विदेश

जिंदगी-मौत से जूझ रहे हैं उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन? साउथ कोरिया कर रहा पड़ताल

एपी,सियोलPublished By: Shankar
Tue, 21 Apr 2020 11:14 AM
जिंदगी-मौत से जूझ रहे हैं उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन? साउथ कोरिया कर रहा पड़ताल

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन फिलहाल जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं, अमेरिकी मीडिया ने ऐसा दावा किया है। दक्षिण कोरियाई सरकार अमेरिकी मीडिया की उन खबरों की जांच-पड़ताल कर रही है, जिसमें कहा गया है कि सर्जरी के बाद उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन की हालत बेहद गंभीर है। दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय और राष्ट्रीय खुफिया सेवा के अधिकारियों ने कहा कि वे रिपोर्ट की तत्काल पुष्टि नहीं कर सकते। 

सर्जरी के बाद हालत और बिगड़ी
सीएनएन ने एक गुमनाम अमेरिकी अधिकारी के हवाला से बताया कि किम एक सर्जरी के बाद 'गंभीर खतरे' में हैं। बताया जा रहा है कि हृदय की सर्जरी करने के बाद उनकी हालत और भी ज्यादा बिगड़ गई है। अमेरिकी मीडिया में यह भी दावा किया जा रहा है कि तानाशाह ब्रेन डेड हो चुके हैं। दोनों कोरियाई देशों के बीच के मामलों को देखने वाले एकीकरण मंत्रालय ने कहा कि वह दैनिक एनके की एक अन्य खबर की भी पुष्टि नहीं कर सकता है, जिसमें अज्ञात स्रोतों के हवाले से कहा गया है कि किम की राजधानी प्योंगयांग में हृदय की सर्जरी की गई है और उनकी हालत में सुधार हो रहा है।

यह भी पढ़ें- तानाशाह की जिंदगी खतरे में? नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग उन की हालत बेहद नाजुक, ब्रेन डेड होने की अटकलें

काफी समय से बीमार चल रहे हैं किम जोंग
डेली एनके ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि तानाशाह किम जोंग की तबीयत बीते कुछ महीनों में ज्यादा खराब हुई है। इसकी वजह है कि बहुत ज्‍यादा स्‍मोकिंग, मोटापे की बीमारी और ज्यादा काम। सीएनएन के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के मीडिया में अब तक किम जोंग की तबीयत को लेकर अब तक कुछ भी प्रकाशित नहीं हुआ है। इसकी वजह है कि वहां मीडिया पूरी तरह से सरकार के नियंत्रण में है। यही वजह है कि यहां से सूचना का इतनी जल्दी आना मुश्किल है।

अंतिम बार 11 अप्रैल को देखा गया
बताया जा रहा है कि किम जोंग उन को आखिरी बार सार्वजनिक तौर पर 11 अप्रैल को देखा गया था। जिसमें उन्होंने एक बैठक की अध्यक्षता की थी और कोरोना वायरस को लेकर सख्त जांच के आदेश दिए थे। इतना ही नहीं, वह 14 अप्रैल को मिसाइल के परीक्षण के कार्यक्रम से भी नदारद थे। बता दें कि अपने पिता और दिवंगत नेता किम जोंग-इल की 2011 के आखिर में मृत्यु हो जाने के बाद किम जोंग उन ने उत्तर कोरिया की सत्ता पर काबिज हुए थे।
 

संबंधित खबरें