ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशजहां मरा हरदीप निज्जर वहां खतरे में हिंदू मंदिर, कनाडाई MP ने बताए खालिस्तानियों के मंसूबे

जहां मरा हरदीप निज्जर वहां खतरे में हिंदू मंदिर, कनाडाई MP ने बताए खालिस्तानियों के मंसूबे

कनाडा के सरे में एक बार फिर हिन्दू मंदिर खालिस्तानियों के निशाने पर है। धमकी मिलने के बाद कनाडाई सांसद ने ट्रूडो सरकार ने मामले में दखल देने की मांग की है।

जहां मरा हरदीप निज्जर वहां खतरे में हिंदू मंदिर, कनाडाई MP ने बताए खालिस्तानियों के मंसूबे
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 21 Nov 2023 08:19 AM
ऐप पर पढ़ें

कनाडा में एक बार फिर हिन्दू मंदिर खालिस्तानियों के निशाने पर है। धमकी मिलने के बाद भारतीय मूल के कनाडाई सांसद चंद्र आर्य ने जस्टिन ट्रूडो सरकार और स्थानीय अधिकारियों से इसे रोकने की अपील की है। उन्होंने हिंदू-कनाडाई लोगों को निशाना बनाकर किए जाने वाले हेट क्राइम के खिलाफ कार्रवाई करने का भी आग्रह किया। आर्य ने हाल ही में हुई कई घटनाओं और सिख चरमपंथियों द्वारा हिन्दू मंदिरों में तोड़फोड़ पर दुख जाहिर किया। उन्होंने कहा कि खालिस्तानी अब सरे के एक मंदिर को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं।

सांसद चंद्र आर्य ने अपने बयान में उस वीडियो का जिक्र किया जिसमें एक खालिस्तानी समर्थक को सरे में लक्ष्मी नारायण मंदिर के अंदर विरोध प्रदर्शन की धमकी देते हुए सुना जा सकता है। उन्होंने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, “ये सब भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर किया जा रहा है। मैं फिर से कनाडाई अधिकारियों से हस्तक्षेप करने और कार्रवाई करने के लिए कह रहा हूं।”

उन्होंने हाल के वर्षों में हिंदू मंदिरों पर खालिस्तानी हमलों के पैटर्न का हवाला देते हुए इस बात पर जोर दिया कि यह कोई अलग घटना नहीं है। उन्होंने कहा, “पिछले कुछ वर्षों के दौरान हिंदू मंदिरों पर कई बार हमले हुए हैं। हिंदू-कनाडाई लोगों के खिलाफ घृणा अपराध किए जा रहे हैं। आर्य ने कहा, ''इन चीजों को खुले तौर पर और सार्वजनिक रूप से जारी रखने की इजाजत देना स्वीकार्य नहीं है।''

गौरतलब है कि पिछले हफ्ते, खालिस्तान समर्थकों ने भारतीय उच्चायोग के एक कार्यक्रम के दौरान एबॉट्सफ़ोर्ड में एक सिख परिवार को अपशब्द कहने की रिपोर्ट सामने आई थी, जब उन्होंने जमीन से भारत के राष्ट्रीय ध्वज को उठाने का प्रयास किया था।

अमेरिका स्थित सिख नेता सुखी चहल ने कहा, "इन स्वयं-घोषित खालिस्तानियों का मानना ​​​​है कि उन्हें स्वतंत्र भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आड़ में किसी के साथ दुर्व्यवहार करने और धमकी देने की स्वतंत्रता है।" 

बता दें कि भारत भी कई बार कनाडा की धरती पर खालिस्तान समर्थक गतिविधियों में वृद्धि और हिंदू मंदिरों पर हमलों पर चिंता जताता रहा है। अगस्त में, खालिस्तान जनमत संग्रह के पोस्टरों के साथ चरमपंथी तत्वों द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी, जिसमें मारे गए खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) प्रमुख और नामित आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की तस्वीरें थीं। इससे पहले अप्रैल में, कनाडा के ओंटारियो में विंडसर में स्वामीनारायण मंदिर में भारत विरोधी नारों के साथ तोड़फोड़ की गई थी।