ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशसरकार से नाराज हजारों लोगों ने संसद में बोला धावा, इमारत को लगा ली आग; जान बचाकर भागे सांसद

सरकार से नाराज हजारों लोगों ने संसद में बोला धावा, इमारत को लगा ली आग; जान बचाकर भागे सांसद

केन्या में इन दिनों टैक्स को लेकर लोगों में सरकार को लेकर नाराजगी है। मंगलवार को हजारों प्रदर्शनकारी संसद में घुस गए और इमारत के एक हिस्से में आग लगा दी।

सरकार से नाराज हजारों लोगों ने संसद में बोला धावा, इमारत को लगा ली आग; जान बचाकर भागे सांसद
Gaurav Kalaएजेंसी,नैरोबीTue, 25 Jun 2024 10:07 PM
ऐप पर पढ़ें

ईस्ट अफ्रीकी देश केन्या में इन दिनों टैक्स को लेकर लोगों में सरकार को लेकर नाराजगी है। करों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हजारों प्रदर्शनकारी संसद में घुस गए और इमारत के एक हिस्से में आग लगा दी। हालात बेकाबू होते देख सुरक्षा कर्मियों ने किसी तरह सांसदों को इमारत से बाहर निकाला। इससे पहले पुलिस ने राजधानी में प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाई थी।

पुलिस ने इससे पहले मंगलवार को राजधानी नैरोबी में प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाईं। प्रदर्शन में हजारों लोगों ने हिस्सा लिया था और उनकी मांग की कि सांसद एक विवादास्पद वित्त विधेयक में प्रस्तावित नए करों के खिलाफ मतदान करें। पिछले सप्ताह विरोध प्रदर्शनों में दो लोगों की मौत हो गई थी, लेकिन मंगलवार को किसी के हताहत होने की तत्काल कोई जानकारी नहीं है। केन्या के लोगों द्वारा दान की गई सामग्री के साथ चिकित्सकों ने विभिन्न शहरों में अस्थायी आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र स्थापित किए।

डायपर और सैनिटरी पैड पर भी भारी-भरकम टैक्स
केन्या में विरोध प्रदर्शन का यह दौर तब शुरू हुआ जब सांसदों ने नए करों की पेशकश करने वाले वित्त विधेयक पर मतदान किया। इन नये करों में ‘इको-लेवी’ भी शामिल है जो सैनिटरी पैड और डायपर जैसी वस्तुओं की कीमत बढ़ाएगी। लोगों के आक्रोश के बाद ‘ब्रेड’ पर कर लगाने का प्रस्ताव हटा दिया गया लेकिन प्रदर्शनकारी अब भी संसद से इस विधेयक को पारित नहीं करने का आह्वान कर रहे हैं।

केन्या मानवाधिकार आयोग ने मंगलवार को अधिकारियों द्वारा प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने का एक वीडियो साझा किया और कहा कि उन्हें जवाबदेह ठहराया जाएगा। आयोग ने ‘एक्स’ पर राष्ट्रपति विलियम रुटो को संबोधित करते हुए लिखा, “दुनिया आपको अत्याचार की ओर बढ़ते हुए देख रही है! आपकी सरकार के कार्य लोकतंत्र पर हमला हैं। गोलीबारी में प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से शामिल सभी लोगों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए।”

Advertisement