ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेशकराची ब्लास्ट: पाकिस्तान-चीन संबंधों को तोड़ने के इरादे से किया गया था आत्मघाती हमला, शुरुआती जांच में मिले संकेत

कराची ब्लास्ट: पाकिस्तान-चीन संबंधों को तोड़ने के इरादे से किया गया था आत्मघाती हमला, शुरुआती जांच में मिले संकेत

हमले के बाद बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी ने कहा है कि शैरी दो साल पहले मजीद ब्रिगेड में शामिल हुई थी। पिछले दो सालों में शैरी ने मजीद ब्रिगेड की कई इकाइयों से जुड़ी रही। वह अपनी स्वेच्छा से आगे आई थी।

कराची ब्लास्ट: पाकिस्तान-चीन संबंधों को तोड़ने के इरादे से किया गया था आत्मघाती हमला, शुरुआती जांच में मिले संकेत
Ashutosh Rayलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 28 Apr 2022 02:49 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पाकिस्तान की कराची यूनिवर्सिटी में मंगलवार को हुए आत्मघाती हमले की जांच शुरू हो गई है। आत्मघाती हमले की शुरुआती जांच के बाद अधिकारियों का मानना है कि इस विस्फोट के पीछे की मुख्य वजह पाकिस्तान और चीन के बीच संबंधों को तोड़ना था। इसके अलवा उन्होंने ने इस हमले में किसी विदेशी एंजेसी का भी हाथ होने की आशंका जताई है।

कराची यूनिवर्सिटी के कन्फ्यूशियस बिल्डिंग के करीब हुए इस धमाके में 3 चीनी नागरिकों समेत 4 लोगों की मौत हुई है। मरने वाले चीन नागरिक शिक्षाविद थे। इसके अलावा इस हादसे में एक चीनी शिक्षक सहित चार अन्य लोग घायल हुए हैं। आत्मघाती हमले के बाद काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (CTD) की ओर से मोबिना टाउन थाने में अवैध बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (बीएलए) के दो कमांडरों के खिलाफ हत्या और आतंकवाद के आरोप में केस दर्ज किया है।

महिला शादीशुदा थी और उसके बच्चे हैं

डॉन की रिपोर्ट के मुताबित, सीटीडी अधिकारी राजा उमर खत्ताब ने बताया कि आत्मघाती हमलावर की पहचान शैरी बलूच उर्फ ब्रिमश के रूप में हुई है, जिसका जन्म साल 1991 में तुर्बत में हुआ था। उन्होंने आगे कहा कि कि महिला शादीशुदा थी और उसके दो बच्चे हैं। अधिकारी ने कहा कि उसके पति डॉ हैबाटन मूल रूप से केच के रहने वाले हैं। फिलहला वो जिन्ना पोस्टग्रेजुएट मेडिकल सेंटर (जेपीएमसी) से पब्लिक हेल्थ कोर्स कर रहे हैं। हालांकि, उनकी पत्नी अपने बच्चों के साथ गुलिस्तान-ए-जौहर में रहती थी।

पति का नहीं चल पा रहा पता 

अधिकारी ने कहा कि जांच में पता चला है कि महिला और पति दोनों ही एक सप्ताह पहले अपना घर छोड़ दिए थे। अब पति के नए ठिकारने के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। सीटीडी ने कहा कि पति और घटना से जुड़े अन्य लोगों की तलाश के लिए छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा सीटीडी के अधिकारी ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि आत्मघाती हमलावर कराची यूनिवर्सिटी का छात्र नहीं थी। महिला ने अपनी सारी शिक्षा बलिस्तान में ही हासिल की थी। बाद में एक सरकारी स्कूल की टीचर बन गई थी।

epaper