ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशअपनी ही संसद में PM जस्टिन ट्रूडो की हो गई फजीहत, विपक्ष के नेता ने खूब सुनाया; देखें वीडियो

अपनी ही संसद में PM जस्टिन ट्रूडो की हो गई फजीहत, विपक्ष के नेता ने खूब सुनाया; देखें वीडियो

कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो को अपनी ही संसद में फजीहत झेलनी पड़ी। विपक्ष के एक नेता उन्हें खूब सुनाया। यहां तक वाको पीएम कहा। जब उनसे चार बार माफी मांगने को कहा तो भी वो नहीं माने।

अपनी ही संसद में PM जस्टिन ट्रूडो की हो गई फजीहत, विपक्ष के नेता ने खूब सुनाया; देखें वीडियो
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,टोरंटोWed, 01 May 2024 10:05 AM
ऐप पर पढ़ें

कनाडा की संसद में प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो फजीहत का सामना करना पड़ा। देश में ड्रग्स की ओवरडोज से लगातार मर रहे लोगों के प्रति सरकार के सुस्त रवैये पर विपक्षी दल के एक नेता उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई। मामला तब बढ़ गया जब उन्होंने ट्रू़डो को 'वाको पीएम' कहकर बुलाया। इस पर स्पीकर ने आपत्ति जताई और सांसद से अपने शब्द वापस लेने और पीएम से माफी मांगने की मांग की। स्पीकर ने सांसद से माफी मांगने के लिए चार बार विनती की जब वो नहीं माने तो उन्हें सदन से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया। इस दौरान सदन में विपक्षी नेताओं ने ट्रूडो के खिलाफ जमकर नारे लगाए और सदन में हंगामा किया।

कनाडा के विपक्षी दल के नेता पियरे पोइलिवरे ने मंगलवार को संसदीय सत्र में पीएम ट्रूडो पर तीखा हमला बोला। हालांकि इस मामले में स्पीकर ने उन्हें हाउस ऑफ कॉमन्स से पूरे दिन की कार्यवाही के लिए निकाल दिया। पोइलिवरे ने प्रधानमंत्री को वाको पीएम कहकर बुलाया। वह ड्रग्स और नशीली दवाओं के ओवरडोज़ से निपटने के सरकारी तरीकों पर सवाल उठा रहे थे।

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, विपक्षी नेता पोइलिवरे ने नशीली दवाओं के ओवरडोज़ पर रोक लगाने में विफल रहने के लिए ट्रूडो सरकार की जमकर आलोचना की। हालांकि पलटवार करते हुए ट्रूडो ने कहा कि पोइलिव्रे श्वेत वर्चस्ववादियों के सहयोगी थे। फिर भी ऐक्शन सिर्फ पोइलिव्रे पर हुआ। उन्होंने सदन में ट्रूडो से पूछा कि "हम इस निरर्थक प्रधान मंत्री की इस निरर्थक नीति को कब समाप्त करेंगे?" 

चार बार माफी मांगने को कहा पर नहीं माने
विपक्षी नेता के इस बयान पर स्पीकर ग्रेग फर्गस ने कड़ी आपत्ति जताई। उन्होंने पोइलिवरे को बताया कि टिप्पणी असंसदीय और अस्वीकार्य है और इसे तुरंत वापस लें और माफी मांगे। स्पीकर ने चार बार दोहराया लेकिन, पोइलिव्रे नहीं माने और पीएम पर लगातार हमला करते रहे। इस पर स्पीकर ने उन्हें दिन की कार्यवाही के लिए सदन से बाहर निकाल दिया।