DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विदेश  ›  भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, जो बाइडेन के ऐलान से गदगद हैं भारतीय-अमेरिकी

विदेशभारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, जो बाइडेन के ऐलान से गदगद हैं भारतीय-अमेरिकी

लाइव हिन्दुस्तान टीम,वाशिंगटनPublished By: Shankar Pandit
Wed, 12 Aug 2020 07:52 AM
भारतीय मूल की कमला हैरिस बनीं अमेरिकी उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार, जो बाइडेन के ऐलान से गदगद हैं भारतीय-अमेरिकी

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने मंगलवार (स्थानीय समयानुसार) भारतीयू मूल की कैलिफोर्निया सीनेटर कमला हैरिस को उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ने मंगलवार को ट्वीट के जरिए इस बात की जानकारी दी। इस सूचना के बाद भारतीय-अमेरिकी समुदाय में खुशी की लहर है।

जो बाइडेन ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, 'ये बताते हुए मुझे गर्व हो रहा है कि कमला हैरिस को मैंने अपना उपराष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुना है।' बाइडेन ने कमला को एक बहादुर योद्धा और अमेरिका के सबसे बेहतरीन नौकरशाहों में से एक बताया।

उन्होंने अगले ट्वीट में कहा, 'जब कमला हैरिस कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल थीं तब से मैंने उनको काम करते हुए देखा है। मैंने खुद देखा है कि उन्होंने कैसे बड़े-बड़े बैंकों को चुनौती दी, काम करने वाले लोगों की मदद की और महिलाओं-बच्चों को शोषण से बचाया। मैं उस समय भी गर्व महसूस करता था और आज भी गर्व महसूस कर रहा हूं जब वो इस अभियान में मेरी सहयोगी होंगी।'

 
भारतीय मूल की सीनेटर कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर चयन से भारतीय-अमेरिकी समूह काफी खुश हैं। अमेरिका भर में अग्रणी भारतीय-अमेरिकी समूहों ने डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन द्वारा भारतीय मूल के सीनेटर कमला हैरिस के उप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के चयन की सराहना करते हुए कहा है कि यह अमेरिका में पूरे समुदाय के लिए गर्व और उत्सव का पल है। 

दरअसल, 55 साल की हैरिस, जिनके पिता जमैका के रहने वाले अफ्रीकी हैं और मां भारतीय हैं, वर्तमान में कैलिफोर्निया से अमेरिकी सीनेटर हैं। हालांकि, कमला हैरिस खुद पिछले साल तक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार थीं। मग उन्हें इसके लिए भरपूर समर्थन नहीं मिल पाया था। बता दें कि अमेरिका में 3 नवंबर को राष्ट्रपति चुनाव है। 

इस मौके पर भारतीय मूल के अमेरिकी और इंडिस्पोरा के संस्थापक एम आर रंगास्वामी ने कहा कि भारतीय-अमेरिकी समुदाय के लिए एक अद्भूत क्षण है। भारतीय-अमेरिकी अब राष्ट्रीय फेबरिक में एक मुख्यधारा के समुदाय हैं। रंगास्वामी ने कहा निजी तौर पर एक महिला को टिकट मिलना बहुत अच्छा है, जिनकी मां मेरे गृहनगर चेन्नई की रहने वाली हैं। 

संबंधित खबरें