ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशयुद्धविराम आगे तभी बढ़ेगा, जब... US राष्ट्रपति को इजरायली PM नेतन्याहू की दो टूक

युद्धविराम आगे तभी बढ़ेगा, जब... US राष्ट्रपति को इजरायली PM नेतन्याहू की दो टूक

Israel-Hamas War: अमेरिका, मिस्र और कतर युद्धविराम को सोमवार से आगे बढ़ाने के लिए इजरायल पर दबाव डाल रहे हैं लेकिन नेतन्याहू ने दो टूक कहा है कि अस्थायी संघर्ष विराम समाप्त होते ही इजरायल हमला करेगा।

युद्धविराम आगे तभी बढ़ेगा, जब... US राष्ट्रपति को इजरायली PM नेतन्याहू की दो टूक
Pramod Kumarएजेंसी,नई दिल्लीMon, 27 Nov 2023 08:34 AM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल-हमास के बीच हुए समझौते के मुताबिक चार दिनों के आंशिक युद्धविराम का आज आखिरी दिन है। समझौते के मुताबिक, हमास ने अब तक कुल 54 बंधकों को रिहा किया है, जबकि इजरायल ने 117 कैदियों की रिहाई की है। अभी भी दोनों पक्षों को एक दूसरे के नागरिकों को रिहाई की उम्मीद है लेकिन इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने दो टूक कहा है कि आंशिक युद्धविराम खत्म होते ही इजरायल पूरी ताकत के साथ गाजा में फिर से हमले करेगा।

दूसरी तरफ, अमेरिका, मिस्र और कतर इस युद्धविराम को सोमवार से आगे बढ़ाने के लिए इजरायल पर दबाव डाल रहे हैं लेकिन नेतन्याहू ने रविवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से दो टूक कहा है कि अस्थायी संघर्ष विराम समाप्त होने के बाद इजरायल पूरी ताकत के साथ गाजा में अपना अभियान फिर से शुरू करेगा। हालाँकि, नेतन्याहू ने यह भी कहा कि कतर की मध्यस्थता में हुए समझौते और  सहमति के अनुसार, अगर हमास हर दिन दस अतिरिक्त बंधकों की रिहाई करता है तो वह संघर्ष विराम को बढ़ाने का स्वागत करेंगे।

समझौते के अनुसार, जैसे ही हमास ने गाजा में बंदी बनाए गए इजरायली बंधकों के तीसरे बैच को रविवार को रिहा किया, अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने इजराइल और हमास के बीच चल रहे संघर्ष विराम पर अपनी स्थिति की पुष्टि की और इसे आगे बढ़ाने की वकालत की। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वे तब तक इस काम को नहीं रोकेंगे जब तक कि हरेक बंधक रिहा नहीं हो जाता। उन्होंने हमास द्वारा एक अमेरिकी नाबालिग की रिहाई का भी जिक्र किया।

रविवार देर रात गाजा से हमास द्वारा बंधकों की रिहाई पर अपनी टिप्पणी के दौरान बाइडेन ने कहा, "हम तब तक काम करना बंद नहीं करेंगे, जब तक कि प्रत्येक बंधक को उनके प्रियजनों को वापस नहीं लौटा दिया जाता।"

बता दें कि इजराइल और हमास के बीच कतर की मध्यस्थता वाले संघर्ष विराम समझौते के तहत, चार दिनों की अवधि में 50 इजरायली बंधकों की रिहाई के बदले में 150 फिलिस्तीनी कैदियों को भी छोड़ा जाना था। इनमें से कई फिलिस्तीनियों को आर्म्स एक्ट और हिंसक अपराधों में दोषी ठहराया गया है और वे इजरायल की जेलों में कैदी हैं। दूसरी तरफ हमास द्वारा बंधक बनाए गए वे नागरिक हैं जिन्हें 7 अक्टूबर को इज़रायल में आतंकवादी समूह की हत्या के दौरान अगवा कर लिया गया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें