ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशइजरायल ने बताई अपनी गलती, क्यों कम करना हमास हमले में मरने वालों का आंकड़ा

इजरायल ने बताई अपनी गलती, क्यों कम करना हमास हमले में मरने वालों का आंकड़ा

इजरायल के प्रधानमंत्री के सलाहकार ने कहा है कि 7 अक्टूबर को मरने वालों में बहुत सारे आतंकी थे। शवों के जले होने की वजह से उनकी पहचान नहीं हो पाई थी।

इजरायल ने बताई अपनी गलती, क्यों कम करना हमास हमले में मरने वालों का आंकड़ा
Ankit Ojhaलाइव हिंदुस्तान,तेल अवीवSat, 18 Nov 2023 12:38 PM
ऐप पर पढ़ें

इजरायल ने हमास के हमले में मरने वालों का आंकड़ा सुधारते हुए इसे 1400 से 1200 कर दिया था। पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के सलाहकार ने इसके पीछे की वजह बताई है। उन्होंने कहा कि गिनती में गलती हो गई थी। अमेरिकी न्यूज चैनल को इंटरव्यू देने के दौरान नेतन्याहू ने कहा कि बहुत सारे शव बुरी तरह झुलस गए थे। पहले ऐसा लग रहा था कि वे इजरायली लोग हैं जिन्हें हमास के आतंकियों ने मार दिया। बाद में पता चला कि उनमें से कई सारे शव आतंकवादियों के थे। 

उन्होंने कहा, पहले 1400 का आंकड़ा जारी किया गया था लेकिन बाद में इसे 1200 कर दिया गया है। हमें पता चल गया कि हमसे गलती हुई है। शव बुरी तरह से जले  होने की वजह से पहचान करना मुश्किल हो रहा था। बता दें कि बीते सप्ताह इजरायली विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेकहा था कि 7 अक्टूबर को हमास के हमले में मारे गए लोगों के आंकड़े में सुधार किया गया है। इस कत्लेआम में इजरायल के 1200 लोग मारे गए थे। 

बता दें कि हमास और इजरायल में युद्ध छिड़ने के बाद अब तक 11400 से ज्यादा फिलिस्तीनी मारे जा चुके हैं। गाजा पट्टी में अस्पतालों पर भी बमबारी हो रही है। तमाम देशों की तरफ से युद्धविराम के आग्रह को बेंजामिन नेतन्याहू मानने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि जब तक हमास का पूरी तरह खात्मा नहीं हो जाएगा सीजफायर का ऐलान नहीं होगा। अगर सीजफायर किया जाता है तो इसका सीधा मतलब समर्पण होगा। 

इजरायल ने गाजा के अल शिफा अस्पताल में घुसकर ऑपरेशन चलाया है। इसके अलावा कई जगहों पर बमबारी भी की गई। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि मरने वालों में लगभग 4500 बच्चे हैं। वहीं अस्पतालों में सुविधाएं ना होने और फ्यूल खत्म होने की वजह से मरीजों की जान जा रही है। नवजात बच्चों की जान बचानी भी मुश्किल हो रही है। हमास के आतंकी भी सुरंगों से आईडीएफ पर हमला कर रहे हैं। इजरायल का दावा है कि आतंकियों ने अस्पतालों को अपना अड्डा बना रखा है और वहां पर गोला बारूद रखा हुआ है। 

दक्षिण गाजा में भी चेतावनी
इजरायल ने पहले लोगों से उत्तरी गाजा से दक्षिण की तरफ जाने को कहा था। बड़ी संख्या में लोग दक्षिणी गाजा में शिफ्ट हो गए। अब इजरायल ने दक्षिणी गाजा में भी सैन्य अभियान चलाने की बात कही है। आईडीएफ का दावा है कि उसने उत्तरी गाजा में नियंत्रण हासिल कर लिया है। हमास के खात्मे और बंधकों की रिहाई को लेकर बड़ी चुनौती बनी हुई है। अगर इजरायल दक्षिणी गाजा पर भी इसी तरह हमले शुरू करता है तो उसे बंधकों से हाथ धोना पड़ सकता है। 


 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें