DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विदेश  ›  कोरोना के खिलाफ एक हुए कट्टर दुश्मन: पहले फलस्तीन पर बरसाए बम, अब 10 लाख कोरोना टीके देगा इजराइल
विदेश

कोरोना के खिलाफ एक हुए कट्टर दुश्मन: पहले फलस्तीन पर बरसाए बम, अब 10 लाख कोरोना टीके देगा इजराइल

एपी,यरुशलमPublished By: Sudhir Jha
Fri, 18 Jun 2021 07:16 PM
कोरोना के खिलाफ एक हुए कट्टर दुश्मन: पहले फलस्तीन पर बरसाए बम, अब 10 लाख कोरोना टीके देगा इजराइल

इजराइल ने शुक्रवार को कहा कि वह कोविड-19 टीके की करीब 10 लाख खुराक जिनके इस्तेमाल की अंतिम तारीख जल्द खत्म होने वाली है, फलस्तीन प्राधिकरण (पीए) को ट्रांसफर करेगा। इसके बदले में फलस्तीन इस साल मिलने वाली टीके की इतनी ही खुराक इजराइल को वापस करेगा। इजराइल अपनी आबादी के 85 प्रतिशत वयस्कों का टीकाकरण कर पांबदियों को हटा चुका है, लेकिन टीके की खुराक पश्चिमी तट और गाजा में रह रहे 45 लाख फलस्तीनियों से साझा नहीं करने पर आलोचना का सामना कर रहा है।

इस समझौते की घोषणा इजराइल की नई सरकार ने की जिसने रविवार को ही सत्ता संभाली थी। इजराइली सरकार ने कहा कि वह फाइजर टीके की खुराक पीए को ट्रांसफर करेगी जिनके इस्तेमाल की मियाद (एक्सपायरी डेट) जल्द समाप्त हो रही है। इसके बदले में पीए इतनी ही संख्या में टीके की खुराक सितंबर या अक्टूबर में दवा कंपनियों से मिलने पर इजराइल को हस्तांतरित करेगा। 

इजराइल ने दुनिया के सबसे सफल टीकाकरण अभियान को अंजाम दिया है और अब वहां स्कूल और कारोबार पूरी तरह से खुल गए हैं। इस सप्ताह अधिकारियों ने यहां सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनने की भी अनिवार्यता समाप्त कर दी जो कोविड-19 की वजह से लागू आखिरी पाबंदी थी।

अधिकार समूहों का कहना है कि इजराइल ने इलाके पर कब्जा किया है और इसलिए फलस्तीनियों को टीका मुहैया कराने की जिम्मेदारी उसकी है। हालांकि, इजराइल ने इस तरह की जिम्मेदारी से इनकार करते हुए वर्ष 1990 में फलस्तीन के साथ हुए अंतरित शांति समझौते को रेखांकित किया है। समझौते के तहत पीए को पश्चिमी तट पर सीमित स्वायत्ता होगी और वह स्वास्थ्य सेवाओं के लिए जिम्मेदार होगा। गाजा पर इस्लामिक चरमपंथी समूह हमास का शासन है जिसे इजराइल और पश्चिमी देश आतंकवादी संगठन मानते हैं।

पीए ने कहा कि वह अपने स्तर पर निजी कंपनियों से और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जरूरतमंद देशों को टीके की आपूर्ति करने के लिए बनाई योजना के तहत खुराक प्राप्त करने की कोशिश कर रहा है। हालांकि, अब तक स्पष्ट नहीं है कि इजराइल फाइजर टीके की खुराक डब्ल्यूएचओ की योजना कोवैक्स के तहत देगा या अलग समझौते के तहत।  

संबंधित खबरें