ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशराफा में रुका कत्लेआम; नेतन्याहू और हमास दोनों ने छोड़ी जिद, किस बात पर हुआ युद्धविराम

राफा में रुका कत्लेआम; नेतन्याहू और हमास दोनों ने छोड़ी जिद, किस बात पर हुआ युद्धविराम

इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के आदेश पर आईडीएफ और दूसरी तरफ हमास ने रविवार को लगातार जंग की अपनी जिद छोड़ दी। अधिक से अधिक मानवीय सहायता के लिए सामरिक विराम की घोषणा की गई है।

राफा में रुका कत्लेआम; नेतन्याहू और हमास दोनों ने छोड़ी जिद, किस बात पर हुआ युद्धविराम
israel hamas deal in gaza
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,राफाSun, 16 Jun 2024 01:00 PM
ऐप पर पढ़ें

दक्षिणी गाजा के शहर राफा में जमकर नरसंहार के बीच इजरायली सेना और हमास ने कत्लेआम रोक दिया है। इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के आदेश पर आईडीएफ और दूसरी तरफ हमास ने रविवार को लगातार जंग की अपनी जिद छोड़ दी। आईडीएफ की तरफ से घोषणा की गई कि अधिक से अधिक मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए एक दिन शहर में हमला नहीं होगा।

सेना ने बताया कि राफा में सुबह आठ बजे से लेकर शाम सात बजे तक 'सामरिक विराम' रहेगा और अगले आदेश तक यह प्रभावी रहेगा। उधर, हमास ने भी सामरिक विराम के लिए हामी भरी है।

इजरायल और हमास के बीच महीनों से चल रहे कत्लेआम का आलम यह है कि मरने वालों में ज्यादातर संख्या निर्दोष फिलिस्तीनियों की है। अब तक इस युद्ध में करीब 40 हजार लोग काल के ग्रास में समां चुके हैं। इजरायल राफा में पिछले कुछ दिनों से उन राहत शिविरों को निशाना बना रहा है, जहां गाजा से अपनी जान बचाकर लोगों ने शरण ली है। हालांकि इजरायल का यह भी दावा है कि उसका निशाना हमास के आतंकी हैं, जो राहत शिविरों में आम फिलिस्तीनियों के वेश में शरण लिए हुए हैं।

राफा से पहले गाजा में भी मौत का जमकर तांडव हो चुका है और अब बारी राफा की है। इजरायली सेना का कहना है कि गाजा के बाद अब राफा ही इकलौती जगह बची है, जो हमास का आखिरी गढ़ है।

इजरायल ने पिछले दिनों दो राहत शिविरों पर हमला किया था, जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे मारे गए। हालांकि सेना की तरफ से कहा गया कि हमले में हमास के कमांडर भी ढेर हुए। इजरायल ने कुछ दिन पहले एक ऑपरेशन में अपने चार नागरिकों को हमास की कैद से छुड़ाया था, जो पिछले साल 7 अक्तूबर को हुए हमले के बाद से हमास की गिरफ्त में थे। इजरायल की सेना लगातार हमलों से हमास ही नहीं निर्दोष फिलिस्तीनियों की जान ले रही है। जान ही नहीं आम लोगों के लिए जीना भी मुहाल हो गया है। खाने को दाना नहीं बचा है और कई लोग भुखमरी से दम तोड़ रहे हैं।

जब से इजरायल और हमास के बीच युद्ध शुरू हुआ है, संयुक्त राष्ट्र से लेकर तमाम अंतरराष्ट्रीय मानवीय एजेंसियां गाजा और अब राफा के लोगों के लिए नर्क बने जीवन पर चिंता जता रहे हैं। अमेरिका से लेकर तमाम देश संघर्ष विराम की मांग उठा रहे हैं। अब हालांकि रविवार को इजरायली सेना और हमास की तरफ से एक दिन के सामरिक विराम की घोषणा हुई है। सेना ने बताया कि एक दिन का यह संघर्ष विराम आम लोगों को अधिक से अधिक सहायता पहुंचाने के लिए किया गया है।

मानवीय सहायता के लिए रुका कत्लेआम
आईडीएफ ने जानकारी दी कि इजरायल के नियंत्रण वाले केरेम शालोम चौराहे तक सहायता ट्रकों को पहुंचाने के उद्देश्य से सामरिक विराम की घोषणा की गई है। ये ट्रक केरेम शालोम चौराहे से गाजा के अन्य भागों में सहायता सामग्री पहुंचाने के लिए सलाह-ए-दीन राजमार्ग पर सुरक्षित रूप से जा सकेंगे। केरेम शालोम मार्ग वह मार्ग है जहां से इजराइली सेना को सहायता-सामग्री पहुंचाई जाती है। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय सहायता एजेंसियों के साथ समन्वय कर संघर्ष के दौरान सामरिक विराम की घोषणा की गई है।