ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशमेरे लोगों से प्यारी नहीं बेटों की कुर्बानी; अपने बच्चों की मौत पर बोला हमास का टॉप लीडर, कैसे बने इजरायल के शिकार 

मेरे लोगों से प्यारी नहीं बेटों की कुर्बानी; अपने बच्चों की मौत पर बोला हमास का टॉप लीडर, कैसे बने इजरायल के शिकार 

इजरायल के हमलों में हमास राजनीतिक ब्यूरो के प्रमुख इस्माइल हानियेह के तीन पुत्र और उनके तीन पोते-पोतियां मारे गये। हानियेह ने हमले के बाद कहा कि उनके बच्चों की कुर्बानी गाजा के लोगों से बड़ी नहीं है।

मेरे लोगों से प्यारी नहीं बेटों की कुर्बानी; अपने बच्चों की मौत पर बोला हमास का टॉप लीडर, कैसे बने इजरायल के शिकार 
Himanshu Tiwariएजेंसियां,गाजाThu, 11 Apr 2024 02:29 PM
ऐप पर पढ़ें

Ismail Haniyeh News: गाजा सिटी में इजरायल के हवाई हमले में हमास राजनीतिक ब्यूरो के प्रमुख इस्माइल हानियेह के तीन पुत्र और उनके तीन पोते-पोतियां मारे गये। हमास के मीडिया कार्यालय ने गुरुवार को बताया कि गाजा शहर के पश्चिम में अल-शती शरणार्थी शिविर में उनके पुत्र कार पर हुए हमले में मारे गये। हानियेह ने हमले के बाद अल जजीरा टीवी से कहा कि उनके पुत्रों की हत्या से गाजा युद्धविराम वार्ता में हमास की मांगों पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

इजरायल ने आधिकारिक तौर पर हमले की पुष्टि की है। इजराइल की शिन बेट सुरक्षा सेवा और इजराइल रक्षा बल (आईडीएफ) ने संयुक्त बयान में कहा कि उनके एक विमान ने मध्य गाजा पट्टी में तीन हमास आतंकवादियों पर हमला किया। हमले में हानियेह के तीन पुत्र अमीर , मोहम्मद और हाजेम की मौत हो गयी। 

दुश्मन में बदले और कत्लेआम की भावना: इस्माइल हानिया
हानिया ने बुधवार को अल-जजीरा सेटेलाइट चैनल को दिए साक्षात्कार में मौतों की पुष्टि की और कहा कि उनके बेटे यरूशलम और अल-अक्सा मस्जिद को आजाद कराने की राह में शहीद हो गए। हानिया ने फोन पर दिए साक्षात्कार में कहा, "दुश्मन बदले और कत्लेआम की भावना के साथ आगे बढ़ रहा है और वह किसी मानक या कानून को कोई महत्व नहीं देता।"

मेरे बेटों को निशाना बना कर वे डरा नहीं सकते: इस्माइल हानिया
इस्माइल हानिया कतर में निर्वासन में रहते हैं, जहां अल-जजीरा का मुख्यालय है। उन्होंने कहा कि इन हत्याओं से हमास पर रुख नरम करने के लिए दबाव नहीं बनाया जा सकता। उन्होंने कहा, "दुश्मन को लगता है कि नेताओं के परिवारों को निशाना बनाकर वह हमारे लोगों को उनकी मांगें छोड़ने के लिए मजबूर कर देगा। जिस किसी को भी यह लगता है कि मेरे बेटों को निशाना बनाने से हमास अपने रुख में बदलाव के लिए मजबूर होगा, वे भ्रम के शिकार हैं।"

गौरतलब है कि सात अक्टूबर, 2023 को फिलीस्तीन में विद्रोही समूह हमास ने दक्षिणी इजरायल पर हमला किया था जिसके बाद इजरायल ने जवाबी कार्रवाई में गाजा पट्टी में बड़े पैमाने पर हमला किया। इस दौरान लगभग 1,200 लोग मारे गए और 200 से अधिक को बंधक बना लिया गया। संघर्ष की शुरूआत से लेकर अब तक कुल 33,482 लोग मारे गये और 76,049 लोग घायल हो गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें