ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशकनाडा भी मान रहा हरदीप निज्जर की हत्या में ISI का हाथ! एजेंट से पूछताछ; वजह का भी खुलासा

कनाडा भी मान रहा हरदीप निज्जर की हत्या में ISI का हाथ! एजेंट से पूछताछ; वजह का भी खुलासा

राहत राव को कनाडा में ISI एजेंट माना जाता है। कनाडा पुलिस ने राहत राव से कहा कि वह अपने सोशल मीडिया पेज से सारी पोस्ट डिलीट कर दे। कनाडा पुलिस ने राहत राव से पूछताछ की वजह नहीं बताई।

कनाडा भी मान रहा हरदीप निज्जर की हत्या में ISI का हाथ! एजेंट से पूछताछ; वजह का भी खुलासा
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,ओटावाThu, 28 Sep 2023 11:37 AM
ऐप पर पढ़ें

क्या कनाडा भी मान रहा है कि खालिस्तानी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था? यह सवाल तेजी से उठ रहा है क्योंकि हाल में ही कनाडा में राहत राव नाम के शख्स से पूछताछ की गई है। रॉयल कनाडा माउंटेड पुलिस ने राहत राव के दफ्तर पर जाकर पूछताछ की है। राव को कनाडा में आईएसआई का एजेंट माना जाता है। सूत्रों के मुताबिक कनाडा पुलिस ने राहत राव से कहा कि वह अपने सोशल मीडिया पेज से सारी पोस्ट डिलीट कर दे। कनाडा पुलिस ने राहत राव से पूछताछ की वजह नहीं बताई है, लेकिन माना जा रहा है कि निज्जर की हत्या को लेकर ही उससे जानकारी ली गई है। 

कनाडा पुलिस का शायद मानना है कि उसके पास हरदीप सिंह निज्जर की हत्या की जानकारी है। सूत्रों के मुताबिक कनाडा में आईएसआई के दो एजेंट राहत राव और तारिक कियानी हैं। खालिस्तानी गतिविधियों को बढ़ावा देने में भी इनका हाथ माना जाता है। बता दें कि भारतीय एजेंसियों को शुरुआत से ही संदेह है कि हरदीप निज्जर का कत्ल आईएसआई ने कराया है ताकि भारत पर संदेह हो। इसके अलावा कनाडा के ड्रग बिजनेस को भी इसकी वजह माना जा रहा है। ड्रग बिजनेस पर हरदीप निज्जर की अच्छी पकड़ थी, जिस पर कब्जा जमाने के लिए आईएसआई ने उनकी हत्या ही करा दी। 

कनाडा के गुरुद्वारे में आखिर क्यों मिले खालिस्तानी और मणिपुरी आदिवासी

45 साल के खालिस्तानी हरदीप निज्जर की कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हरदीप सिंह निज्जर को भारत ने 2020 में आतंकवादी घोषित किया था। कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने पिछले दिनों भारत पर निज्जर की हत्या का आरोप लगाया था। उसके बाद से ही दोनों देशों के रिश्ते बिगड़ गए हैं। दोनों तरफ से कुछ डिप्लोमैट्स को बाहर भेजा गया है तो अपने यात्रियों के लिए एडवाइजरी भी जारी की गई है। भारत ने कनाडा के आरोपों को खारिज किया है और सबूत देने की मांग की है। हालांकि अब तक कनाडा ने इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी है। 

UN में भारत से लताड़ खा चुका है कनाडा, खूब बरसे थे जयशंकर

गौरतलब है कि विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने अमेरिका दौरे पर भी कनाडा को खूब लताड़ा। उन्होंने कहा कि बीते कुछ सालों में कनाडा में गैंगस्टर और भारत विरोधी तत्व पनपे हैं। यही नहीं यूएन की आमसभा में भी कनाडा को आईना दिखाते हुए उन्होंने कहा था कि सुविधा की राजनीति देखते हुए आतंकवाद से नहीं निपटा जा सकता।