DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब इस देश ने कहा, पाक न माना तो भारत जैसी कार्रवाई करेंगे

 Iran threatens Pakistan action against terrorist group like India (Photo:HT)

आतंकियों को सुरक्षित पनाह देने वाला पाकिस्तान भारत, ईरान, अफगानिस्तान और अमेरिका सहित कई देशों के लिए खतरा बन चुका है। ईरान ने तो उसको धमकी दी है कि अगर पाकिस्तान ने अपने यहां पल रहे आतंकियों के खिलाफ कारगर कार्रवाई नहीं की तो ईरान पाकिस्तान में घुसकर उन दहशतगर्दों का खात्मा करेगा। 

भारत समेत ये तमाम देश पाकिस्तान को उसकी जमीन पर मौजूद आतंकी संगठनों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई करने के लिए आगाह करते रहे हैं। लेकिन उस पर इसका रत्तीभर असर नहीं हुआ। 13 फरवरी को ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड पर और 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आत्मघाती हमलों से एक बार फिर जाहिर हुआ कि पाकिस्तान अब भी आतंकियों का अड्डा बना हुआ है।

 

भारतीय वायुसेना में राफेल के आते ही हटेंगे मिग-21 विमान

ऐसे में भारत के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर कार्रवाई करने के बाद ईरान भी पाकिस्तान में पल रहे आतंकियों से निपटने को तैयार है। ईरान के आईआरजीसी कुर्द्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी ने पाकिस्तान सरकार और उसके सैन्य प्रतिष्ठान को सख्त शब्दों में चेतावनी दी। उन्होंने कहा, मेरे पास पाकिस्तान सरकार के लिए यह सवाल है कि वह कहां जा रही है। उसने अपने तमाम पड़ोसी देशों की सीमाओं पर अशांति पैदा की है। कोई पड़ोसी नहीं बचा है जिसके लिए पाकिस्तान असुरक्षा को बढ़ावा नहीं देना चाहता। 

ईरानी संसद के विदेश नीति आयोग के अध्यक्ष हशमतुल्लाह फलाहतपिशेह ने कहा, तेहरान पाकिस्तान से लगती अपनी सीमा पर दीवार बनाना चाहता है। उन्होंने कहा, पाकिस्तान अगर अपनी जमीन पर आतंकी समूहों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई नहीं करेगा तब ईरान पाकिस्तान में आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई करेगा। ईरान की आईआरजीसी कुर्द्स फोर्स के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी ने कहा, क्या परमाणु बम रखने वाला पाकिस्तान क्षेत्र में कुछेक सौ सदस्यों वाले आतंकी समूह को तबाह नहीं कर सकता। पाकिस्तान ईरान के इरादे का इम्तहान न ले।

वन रैंक वन पेंशन की समीक्षा इसी साल होगी: निर्मला सीतारमण
 
गौरतलब है कि आतंकवाद से सख्ती से निपटने के मुद्दे पर ईरान और भारत एक दूसरे से सहमत हैं और साथ खड़े नजर आ रहे हैं। दरअसल दोनों देश सीमा पार आतंकवाद का सामना कर रहे हैं और हाल के वर्षों में इनके बीच सहयोग में भी बढ़ोतरी हुई है। 

तेहरान खफा क्यों
- 13 फरवरी को रिवोल्यूशनरी गार्ड पर आत्मघाती हमला हुआ जिसमें 27 जवान शहीद हो गए.

- जैश-अल-अदल गुट ने इसका जिम्मा लिया, जो तेहरान के मुताबिक पाकिस्तान आधारित है.

- तेहरान ने कहा कि हमले को अंजाम देने वाले आतंकियों में कम से कम तीन पाकिस्तानी थे 

भारत के दबाव में पाक ने आतंकियों के खिलाफ बनाया कानून, लगेगी पाबंदी

ये देश भी पाकिस्तान से है खफा
अफगानिस्तान
- यहां बीते कुछ साल में हुए आतंकी हमलों के लिए पाक रक्षा प्रतिष्ठान पर उंगली उठती रही है.
- पाकिस्तान आतंकवाद के जरिये काबुल की राजनीति को प्रभावित करने की जुगत में रहता है.
- अफगानिस्तान में भारत की अहम भूमिका को देखते हुए पाक यहां अशांति फैलाना चाहता है.

अमेरिका
- 9/11 का साजिशकर्ता अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन पाक के एबटाबाद में छिपा था.
- राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कह चुके हैं कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में धोखा देता रहा है .
- इसी कारण ट्रंप ने पाकिस्तान को दी जाने वाली दो अरब डॉलर की सहायता पर रोक लगा दी.

एजेंसियों के पास मौजूद हैं बालाकोट में तबाही के सबूत

पाक आधारित जैश ने भारत में कई आतंकी हमले किए
- पुलवामा हमला, पठानकोट एयरबेस पर हमला, उरी सैन्य ब्रिगेड मुख्यालय पर हमला, श्रीनगर में बादामीबाग कैंट पर हमला और जम्मू कश्मीर विधानसभा के पास बम विस्फोट इनमें शामिल हैं।
- साल 2001 में जैश-ए-मोहम्मद ने भारतीय संसद पर हमला किया था।
- साल 2008 में मुंबई पर हुए आतंकी हमले को भी पाकिस्तान से आए लश्कर आतंकियों ने अंजाम दिया था। जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद इस हमले का मास्टरमाइंड था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Iran threatens Pakistan action against terrorist group like India