ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशमहीने भर में ईरान ने पड़ोसी मुस्लिम देश पर क्यों की दूसरी एयरस्ट्राइक, क्या है जैश-अल-अदल और उसका दिया जख्म?

महीने भर में ईरान ने पड़ोसी मुस्लिम देश पर क्यों की दूसरी एयरस्ट्राइक, क्या है जैश-अल-अदल और उसका दिया जख्म?

Iran Airstrike:अल अरबिया न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, जिस आतंकी संगठन के सरगना को ईरानी सुरक्षा बलों ने एयरस्ट्राइक में मार गिराने का दावा किया है, उस जैश अल-अदल की स्थापना 2012 में हुई थी।

महीने भर में ईरान ने पड़ोसी मुस्लिम देश पर क्यों की दूसरी एयरस्ट्राइक, क्या है जैश-अल-अदल और उसका दिया जख्म?
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 24 Feb 2024 09:34 AM
ऐप पर पढ़ें

ईरान के सैन्य बलों ने फिर पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल एयरस्ट्राइक की है। सीमा पार कर ईरानी सैन्य बलों ने आतंकी समूह जैश-अल-अदल के कमांडर इस्माइल शाह बख्श और उसके कुछ साथियों को मार गिराया है। न्यूज चैनल ईरान इंटरनेशनल ने ईरानी सरकारी मीडिया के हवाले से शनिवार की सुबह इसकी पुष्टि की है। बता दें कि एक महीने पहले भी ईरानी सैन्य बलों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे इलाकों में पाक की सीमा में घुसकर आतंकी ठिकानों को तबाह किया था। 

यह घटनाक्रम तब सामने आया है, जब ईरान और पाकिस्तान के बीच रिश्ते तनावपूर्ण दौर से गुजर रहे हैं। पिछले महीने 17 जनवरी को भी ईरान ने पाकिस्तान के दक्षिणी पश्चिमी  बलूचिस्तान के पंजगूर में एयरस्ट्राइक की थी। उसके बाद पाकिस्तान ने भी ईरान की सीमाई इलाके में बलूच विद्रोहियों के ठिकानों पर स्ट्राइक की थी। 

क्या है जैश अल-अदल
अल अरबिया न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, जिस आतंकी संगठन के सरगना को ईरानी सुरक्षा बलों ने एयरस्ट्राइक में मार गिराने का दावा किया है, उस जैश अल-अदल की स्थापना 2012 में हुई थी। ईरान ने उस समूह को एक "आतंकवादी" इकाई के रूप में मान्यता दी गई है।  यह मुख्य रूप से सिस्तान-बलूचिस्तान के दक्षिणपूर्वी प्रांत में सक्रिय है, यह एक सुन्नी चरमपंथी संगठन है।

पिछले कुछ वर्षों में जैश अल-अदल ने ईरानी सुरक्षा बलों पर कई हमले किए हैं। पिछले साल दिसंबर में जैश अल-अदल ने सिस्तान-बलूचिस्तान में एक पुलिस स्टेशन पर हमले की जिम्मेदारी ली थी, जिसमें कम से कम 11 पुलिस कर्मियों की जान चली गई थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें