ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेश'...तो हम जरा भी संकोच नहीं करेंगे', इजरायल पर मिसाइलें दागने के बाद ईरान की वार्निंग

'...तो हम जरा भी संकोच नहीं करेंगे', इजरायल पर मिसाइलें दागने के बाद ईरान की वार्निंग

ईरानी मिशन ने कहा कि इजरायल पर हमला समाप्त माना जा सकता है। मालूम हो कि सीरिया में 1 अप्रैल को हवाई हमले में ईरानी वाणिज्य दूतावास में 2 ईरानी जनरलों की मौत हो गई थी। इसे लेकर तनाव बढ़ गया।

'...तो हम जरा भी संकोच नहीं करेंगे', इजरायल पर मिसाइलें दागने के बाद ईरान की वार्निंग
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,तेहरानSun, 14 Apr 2024 10:02 AM
ऐप पर पढ़ें

ईरान ने शनिवार देर रात इजरायल पर मिसाइलों और ड्रोन से हमला बोल दिया। इस अटैक के बाद तेहरान की ओर से संयुक्त राष्ट्र को एक पत्र लिखा गया। इसमें उसने जोर दिया कि जरूरत पड़ने पर वो आत्मरक्षा के अपने अधिकार के इस्तेमाल में संकोच नहीं करेगा। साथ ही, अगर इजरायल ने सैन्य आक्रमण किया तो फिर उसकी प्रतिक्रिया और भी जोरदार होगी। इजरायल के खिलाफ सैन्य कार्रवाई को लेकर संयुक्त राष्ट्र में ईरान के स्थायी मिशन ने जवाब दिया। इसमें कहा गया कि यह ऐक्शन आत्मरक्षा के वैध अधिकार के संबंध में UN चार्टर के आर्टिकल 51 पर आधारित है। साथ ही, यह कार्रवाई सीरिया में ईरानी वाणिज्य दूतावास के खिलाफ घातक इजरायली हमले के जवाब में थी।

ईरानी मिशन ने कहा कि इजरायल पर हमला समाप्त माना जा सकता है। मालूम हो कि सीरिया में 1 अप्रैल को हवाई हमले में ईरानी वाणिज्य दूतावास में 2 ईरानी जनरलों की मौत हो गई थी। इसके बाद से ईरान ने बदला लेने का प्रण किया था। ईरान ने इस हमले के पीछे इजरायल का हाथ होने का आरोप लगाया। हालांकि, इजरायल ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी। इसके जवाब में अब ईरान ने अप्रत्याशित कदम उठाते हुए इजरायल पर हमला कर दिया और उस पर सैंकड़ों ड्रोन, बैलेस्टिक मिसाइल व क्रूज मिसाइलें दागीं। ईरान के इस हमले ने पश्चिम एशिया को क्षेत्रव्यापी युद्ध के करीब धकेल दिया है।

फ्रांस, ब्रिटेन ने इजरायल पर हमले की निंदा की
ईरान की ओर से छोड़े गए 100 से अधिक ड्रोनों को इजरायल के हवाई क्षेत्र के बाहर पहले ही रोक दिया गया। इजरायली रेडियो गैलाट्ज ने एक सुरक्षा स्रोत का हवाला देते हुए यह जानकारी दी। रिपोर्ट में कहा गया कि अमेरिका और ब्रिटेन की सेना ने इन ड्रोनों को रोका। फ्रांस और ब्रिटेन ने इजरायल पर ईरानी ड्रोन और मिसाइल हमलों की निंदा की है। साथ ही यहूदी राज्य के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त की। फ्रांस के विदेश मंत्री स्टीफन सेजॉर्न ने कहा, 'फ्रांस ईरान की ओर से इजरायल के खिलाफ शुरू किए गए हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता है। फ्रांस इजरायल की सुरक्षा के प्रति अपनी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है।' ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने सेजॉर्न की निंदा के शब्दों और इजरायल के साथ-साथ जॉर्डन, इराक और क्षेत्र के अन्य भागीदारों की सुरक्षा के लिए खड़े होने की प्रतिज्ञा को दोहराया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें