ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विदेश'पहले हिजाब पहनो फिर लेना इंटरव्यू', ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने अमेरिकी पत्रकार को लौटाया

'पहले हिजाब पहनो फिर लेना इंटरव्यू', ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने अमेरिकी पत्रकार को लौटाया

क्रिस्टियन ने इंटरव्यू के लिए ईरानी राष्ट्रपति का 40 मिनट तक इंतजार किया, लेकिन वह नहीं आए। महिला पत्रकार को बताया गया कि यह मुहर्रम का पवित्र महीना चल रहा है, इसलिए हेडस्कार्फ पहनना होगा।

'पहले हिजाब पहनो फिर लेना इंटरव्यू', ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने अमेरिकी पत्रकार को लौटाया
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,वाशिंगटनFri, 23 Sep 2022 09:04 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने हिजाब न पहनने पर अमेरिकी महिला पत्रकार को इंटरव्यू देने से इनकार कर दिया। यह मामला ऐसे समय सामने आया है जब इस मिडिल ईस्ट देश में हिजाब का मुद्दा गरमाया हुआ है। दरअसल, हिजाब नियमों को तोड़ने को लेकर पुलिस हिरासत में हुई एक महिला की मौत के बाद लोग भड़क गए हैं और सड़कों पर उतर आए हैं।

सीएनएन की चीफ इंटरनेशनल एंकर क्रिस्टियन एमनपोर के साथ ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का इंटरव्यू होना था। लेकिन, पत्रकार के हिजाब पहनने से इनकार करने पर उसे रद्द कर दिया गया। क्रिस्टियन ने ट्वीट करके बताया कि उन्हें हेडस्कार्फ पहनने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया। इसके बाद अचानक ही इंटरव्यू को कैंसिल कर दिया गया।

ईरानी राष्ट्रपति का 40 मिनट तक करती रहीं इंतजार
क्रिस्टियन ने इंटरव्यू के लिए ईरानी राष्ट्रपति का 40 मिनट तक इंतजार किया, लेकिन वह नहीं आए। महिला पत्रकार को बताया गया कि यह मुहर्रम का पवित्र महीना चल रहा है, इसलिए हेडस्कार्फ पहनना होगा। इस पर उन्होंने के कहा कि हम न्यूयॉर्क में हैं और यहां पर हेडस्कार्फ को लेकर ऐसा कोई कानून लागू नहीं है। इससे पहले किसी भी ईरानी राष्ट्रपति ने ऐसी मांग नहीं रखी है, जब वह ईरान के बाहर इंटरव्यू कर रही हों।

ईरान में हिजाब को लेकर क्यों मचा है बवाल? 
वहीं, अमेरिका ने ईरान में हिरासत के दौरान युवती की मौत के बाद वहां की धर्माचार पुलिस और अन्य सरकारी एजेंसियों के अधिकारियों पर पाबंदी लगा दी है। ये पाबंदियां युवती की मौत के बाद ईरान में हिंसा भड़कने और फिर सुरक्षा बलों से हुई झड़पों में 9 लोगों की मौत के बाद लगाई गई हैं। धर्माचार पुलिस ने ही पिछले हफ्ते 22 वर्षीय महसा अमीनी को यह कहते हुए हिरासत में लिया था कि उन्होंने अपने बालों को हिजाब से ठीक से नहीं ढका था। अमीनी एक थाने में गिर गई थीं और तीन दिन बाद उनकी मृत्यु हो गई थी। 

epaper