ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News विदेशइजरायल से दो कदम आगे ईरान, सीमा पर तैनात कर दिया ये ब्रह्मास्त्र; चिंता में क्यों डूबे बाइडेन-बेंजामिन?

इजरायल से दो कदम आगे ईरान, सीमा पर तैनात कर दिया ये ब्रह्मास्त्र; चिंता में क्यों डूबे बाइडेन-बेंजामिन?

Iran Israel Conflict: इजरायली फोर्स ने आज सेंट्रल और अपर गलीली इलाके में युद्ध का मॉक ड्रिल किया और उसके विध्वंसक विमानों ने आसमान में उड़नें भरीं हैं। दूसरी तरफ ईरान ने फतह मिसाइल तैनात कर दिया है।

इजरायल से दो कदम आगे ईरान, सीमा पर तैनात कर दिया ये ब्रह्मास्त्र; चिंता में क्यों डूबे बाइडेन-बेंजामिन?
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 16 Apr 2024 03:16 PM
ऐप पर पढ़ें

Iran Israel Conflict and War: इजरायल पर ईरान के ड्रोन और मिसाइल हमले को तीन दिन बीतने को हैं लेकिन अभी तक इजरायल पलटवार नहीं कर सका है। वहां की युद्ध कैबिनेट लगातार बैठक कर रही है और हमले की रणनीति बना रही है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने सोमवार को 24 घंटे के अंदर दो बार युद्ध कैबिनेट की मीटिंग की है। इस बीच, इजरायल के सेना प्रमुख ने कहा है कि इस सप्ताह के अंत तक उनका देश ईरान के हमले का जवाब देगा। उन्होंने कहा कि कई पश्चिमी देशों ने इजरायल से मध्य पूर्व में संघर्ष को बढ़ने से रोकने का आग्रह किया है।

इजरायली सेना का युद्धाभ्यास
हालांकि, इजरायली फोर्स ने आज सेंट्रल और अपर गलीली इलाके में युद्ध का मॉक ड्रिल किया और उसके विध्वंसक विमानों ने आसमान में उड़नें भरीं। इसके अलावा टैंक और बख्तरबंद वाहन भी सड़कों पर उतरे। IAF के कई लड़ाकू विमान आज आसमान में एक साथ उड़ते और युद्धाभ्यास करते नजर आए। इस बीच, इजरायल ने दक्षिणी लेबनान में हवाई हमले कर हिज्बुल्लाह के कई ठिकानों को तबाह किया है।

अब 12 दिन नहीं करेंगे इंतजार
दूसरी तरफ ईरान ने एक वार वीडियो जारी कर इजरायल को धमकी दी है और कहा है कि हम किसी भी हमले का जवाब देने के लिए तैयार हैं। ईरान ने अपने वीडियो संदेश में कहा है कि अगर इजरायल ने हमला किया तो वह सेकंड भर में पलटवार करेगा और इस बार 12 दिनों का इंतजार नहीं करेगा। ईरान के उप विदेश मंत्री अली बाघेरी कानी ने चेतावनी दी है कि इस बार उनका देश दोगुनी ताकत से इजरायल पर हमला बोलेगा और करीब 400 मिसाइल एकसाथ दागेगा।  बाघेरी ने कहा कि ईरान ने करीब 1000 मिसाइल तैयार रखे हैं। बाघेरी ने कहा कि हम कई सालों से इस दिन का इंतजार कर रहे थे।

इसी दौरान ईरान की तैयारियों पर वहां के रक्षा-विदेश मामलों की कमेटी के प्रवक्ता अब्दुल फजल ने धमकी दी है कि ईरान के पास कई घातक हथियार हैं, जिसकी भनक दुनिया को नहीं है। फजल ने कहा है कि ईरान नए तरह के हथियारों से इजरायल पर हमला करेगा। ऐसे में ये आशंका भी गहरा गई है कि क्या ईरान परमाणु बम का इस्तेमाल कर सकता है? 

ईरान की क्या-क्या तैयारी?
ईरान ने पलटवार की तैयारी में हाइपरसोनिक और बैलिस्टिक मिसाइलों को भी रेडी मोड में तैनात कर दिया है। हाइपरसोनिक मिसाइल की रेंज 1400 किलोमीटर है। इसके अलावा ईरान ने फतह मिसाइल की भी तैनाती कर दी है। इसकी मारक रफ्तार 16050 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस बैलिस्टिक मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे अमेरिका-ब्रिटेन और इजरायल का कोई भी डिफेंस सिस्टम इंटरसेप्ट नहीं कर सकता, जैसा कि शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात ईरानी हमले के दौरान उसके 300 से ज्यादा मिसाइल और ड्रोन हमलों के साथ हुआ था। अमेरिका, ब्रिटेन और इजरायल की तिकड़ी ने पड़ोस की छह देशों से एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम के सहयोग से ईरान के 90 फीसदी मिसाइलों को इंटरसेप्ट कर दिया था। 

अमेरिका क्यों चिंतित
ईरान की इस तैयारी से इजारयली प्रधानमंत्री बेंजामिन की टेंशन बढ़ गई है। दूसरी तरफ अमेरिका भी इस बात से परेशान है कि अगर ईरान ने घातक हथियारों का इस्तेमाल किया तो इजरायल भी जवाबी कार्रवाई में विध्वंसक हथियारों का इस्तेमाल कर सकता है। इससे क्षेत्रीय अशांति के अलावा दुनियाभर में भीषण युद्ध भड़क सकता है और उसके घातक अंजाम हो सकते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों पर भी उसका असर पड़ सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें