ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विदेशइजरायल पर 24 घंटे के भीतर अटैक कर सकता है ईरान, अमेरिका ने भी तैनात कर दिए युद्धपोत

इजरायल पर 24 घंटे के भीतर अटैक कर सकता है ईरान, अमेरिका ने भी तैनात कर दिए युद्धपोत

खुफिया सूत्रों के हवाले से यह बताया जा रहा है कि ईरान की जवाबी कार्रवाई रविवार तक हो सकती है। अब ऐसा माना जा रहा है कि तेहरान की ओर से इस अभूतपूर्व हमले के चलते युद्ध छिड़ सकता है।

इजरायल पर 24 घंटे के भीतर अटैक कर सकता है ईरान, अमेरिका ने भी तैनात कर दिए युद्धपोत
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,वाशिंगटनSat, 13 Apr 2024 02:08 PM
ऐप पर पढ़ें

मिडिल-ईस्ट में तनाव एक बार फिर से चरम पर है। आशंका है कि ईरान 24 घंटे के भीतर इजरायल पर हमला कर सकता है। इसे देखते हुए इजरायली सरकार भी अपनी तैयारियों में जुटी हुई है। खुफिया सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि ईरान की जवाबी कार्रवाई रविवार तक हो सकती है। माना जा रहा है कि तेहरान की ओर से इस अभूतपूर्व हमले से युद्ध छिड़ सकता है। दरअसल, ईरान अपनी एक इमारत पर घातक बमबारी के बाद जवाबी हमले की तैयारी में है। मगर, इसे लेकर इजरायल का दावा रहा कि वह उसके हितों के खिलाफ खतरों से जुड़ी थी।

एयर इंडिया के विमान ने ईरानी हवाई क्षेत्र से नहीं भरी उड़ान, इजरायल पर ईरान के हमले की आहट तेज

तेहरान की ओर से बदला लेने की चेतावनी के बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजरायल को भरपूर समर्थन देने की बात कही है। रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस ने इजरायल और अमेरिकी बलों की रक्षा के लिए अतिरिक्त मिलिट्री असेट्स भेजी है। नौसेना के एक अधिकारी ने बताया, 2 नौसेना विध्वंसक जहाजों को पूर्वी भूमध्य सागर में भेजा गया है। इनमें से एक यूएसएस कार्नी है, जो लाल सागर में हूती ड्रोन और एंटी-शिप मिसाइलों के खिलाफ हवाई रक्षा कर रहा था। साथ ही, यूएस ने इस क्षेत्र में शत्रुता पर लगाम लगाने की कोशिशों को दोगुना कर दिया है। इसके लिए ईरान के मित्र देशों से भी बातचीत चल रही है।

ईरान ने इजरायल पर बोला हमला तो कौन से मुस्लिम मुल्क आ सकते हैं साथ, भारत का रुख क्या?

ईरान-इजरायल तनाव पर क्या बोले बाइडन
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी इसे लेकर इजरायल को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि ईरान के जल्द ही हमला करने की आशंका है। मगर, उन्होंने ऐसा न करने की अपील भी की। बाइडन ने एक कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से कहा, 'मैं पूरी तरह से सत्यापित जानकारी तो नहीं दे रहा, मगर आशंका है कि जल्द से जल्द ऐसा हो सकता है।' अमेरिकी राष्ट्रपति से पूछा गया कि इजरायल पर हमला करने को लेकर ईरान को उनका क्या संदेश क्या है? इस पर बाइडन ने कहा, 'ऐसा मत करो।'

इतने गुस्से में क्यों है ईरान? कभी भी कर सकता है इजरायल पर हमला; भारत ने जारी की एडवाइजरी

सूत्रों ने कहा कि ईरान गाजा पट्टी में युद्धविराम सहित अपनी मांगें पूरी होने तक इससे पीछे हटने वाला नहीं है। यह भी कहा कि ईरान परमाणु कार्यक्रम पर बातचीत फिर से शुरू करना चाहता है। ईरान अमेरिका से यह आश्वासन भी चाहता था कि वह नियंत्रित हमले की स्थिति में शामिल नहीं होगा, जिसे अमेरिका ने कथित तौर पर खारिज कर दिया है। गौरतलब है कि गत 1 अप्रैल को इजरायल ने सीरिया के दमिश्क में ईरानी दूतावास के कांसुलर एनेक्सी पर हवाई हमला किया। हमले से इमारत नष्ट हो गई। ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कोर ने कहा कि हमले में 2 कमांडर सहित उसके सात सदस्य मारे गये हैं। इसके बाद ईरान ने इजरायल के खिलाफ जवाबी कार्रवाई करने की कसम खाई है।